विश्व बैंक ने जारी की कारोबार सुगमता की संशोधित रैंकिंग, चीन का स्थान 7 अंक नीचे खिसका

Last Updated: शुक्रवार, 18 दिसंबर 2020 (23:37 IST)
नई दिल्ली। ने आंकड़ों में अनियमितता की समीक्षा के बाद कारोबार सुगमता की जारी की है। विश्व बैंक ने शुक्रवार को कहा कि 2018 की सूची में का स्थान 7 अंक नीचे होना चाहिए था। चीन के अलावा विश्व बैंक ने सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और अजरबेजान की रैंकिंग में भी संशोधन किया है।
ALSO READ:
विश्व बैंक की रिपोर्ट से खुलासा, भारत भेजी जाने वाली धनराशि में होगी 9% की गिरावट
विश्व बैंक ने पिछली कुछ रिपोर्टों के आंकड़ों में अनियमितता की समीक्षा के बाद बदलाव के चलते अगस्त में कारोबार सुगमता रैंकिंग की रिपोर्टों के प्रकाशन पर रोक लगा दी थी। विश्व बैंक ने 16 दिसंबर को एक बयान में कहा कि आंकड़ों में अनियमितता की समीक्षा के बाद 4 देश चीन, संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब और अजरबेजान की रैंकिंग में सुधार की जरूरत पड़ी।
कारोबार सुगमता रैंकिंग 2018 में कारोबार शुरू करने, ऋण प्राप्त करने और कर चुकाने के संकेतकों के आंकड़ों में अनियमितताओं के शामिल रहते चीन को 65.3 अंक दिया गया था। उस रिपोर्ट में चीन की वैश्विक रैंकिंग 78 थी। उसकी 2017 की रैंकिंग की भी यही थी।

अनियमितताओं की समीक्षा के बाद 2018 की रैंकिंग में चीन को 64.5 अंक हासिल हुए। इस तरह उसकी वैश्विक रैंकिंग 7 अंक गिरकर 85 रही। समीक्षा के बाद संयुक्त अरब अमीरात की रैंकिंग 16 पर अपरिवर्तित रही जबकि सऊदी अरब की 62 से घटकर 63 हो गई और अजरबेजान की 34 से सुधरकर 28 हो गई। (भाषा)



और भी पढ़ें :