बच्चों की कविता : मजे से

Funny Poem
हंसों मजे से, गाओ मजे से,
हंसकर खाना, खाओ मजे से।

बच्चों फिर दादी से बोलो,
अच्छी कथा सुनाओ मजे से।

दादी कथा सुनाएं तो फिर,
हूंका देते जाओ मजे से।

सुनते-सुनते कथा कहानी,
चुपके से सो जाओ मजे से।

(वेबदुनिया पर दिए किसी भी कंटेट के प्रकाशन के लिए लेखक/वेबदुनिया की अनुमति/स्वीकृति आवश्यक है, इसके बिना रचनाओं/लेखों का उपयोग वर्जित है...)



और भी पढ़ें :