बाल कविता : बारिश में हुड़दंगी

elephants in Hindi
बोला, मिस्टर हाथी,
क्यों लंगड़ाते आप।
नहीं दिया उत्तर प्रणाम का,
भाग रहे चुपचाप।
हाथी रोकर बोला, ने,
खूब पिलादी भांग।
में हुड़दंगी की तो,
टूट गई है टांग।

(वेबदुनिया पर दिए किसी भी कंटेट के प्रकाशन के लिए लेखक/वेबदुनिया की अनुमति/स्वीकृति आवश्यक है, इसके बिना रचनाओं/लेखों का उपयोग वर्जित है...)



और भी पढ़ें :