बाल गीत : चश्मा भाई

Poem On Child
Poem on Kids

1. बैठ नाक पर चश्मा भाई,
बाहें डालें कान पर।
नहीं आंच आने देते हैं,
आंखों के सम्मान पर।



2. यह दादू का चश्मा है।
इसमें छुपा करिश्मा है।
इसे लगा लो तो मेंढक,
दिखता हाथी जितना है।

(वेबदुनिया पर दिए किसी भी कंटेट के प्रकाशन के लिए लेखक/वेबदुनिया की अनुमति/स्वीकृति आवश्यक है, इसके बिना रचनाओं/लेखों का उपयोग वर्जित है...)



और भी पढ़ें :