बुधवार, 4 अक्टूबर 2023
  1. खेल-संसार
  2. आईपीएल 2023
  3. आईपीएल 2023 न्यूज़
  4. MS Dhoni spotted while holding Bhagwad Gita post title victory
Written By
Last Updated : शुक्रवार, 2 जून 2023 (12:43 IST)

धोनी के घुटने की हुई सफल सर्जरी, थाला ने हाथ में थामी भगवद गीता

चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) ने 29 मई को गुजरात टाइटंस (Gujrat Titans) को हराकर अपना 5वां खिताब जीत लिया है। टीम के कप्तान MS Dhoni ने पुरे सीजन अपने घुटने की चोंट के बावजूद  भी बल्लेबाजी और कप्तानी कर अपनी टीम को एक शानदार जीत दिलवाई।धोनी की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर बड़ी तेज़ी से वायरल हो रही है। इस फोटो में एमएस धोनी कार में बैठे हैं और फोटोग्राफर को भगवत गीता दिखा रहे हैं जिसे उन्होंने अपने हाथ में पकड़ा हुआ है।

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बायें घुटने का बृहस्पतिवार को मुंबई के एक अस्पताल में सफल आपरेशन हुआ जिससे उनके अगले साल इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने की संभावना प्रबल हो गई है।

चेन्नई सुपर किंग्स को पांचवां आईपीएल खिताब दिलाने वाले धोनी सोमवार को फाइनल के बाद अहमदाबाद से सीधे मुंबई पहुंचे थे। उन्होंने मशहूर खेल आर्थोपीडिक सर्जन डॉक्टर दिनशॉ पर्डीवाला से सलाह ली जो बीसीसीआई की मेडिकल पैनल में भी हैं। वह ऋषभ पंत समेत कई भारतीय क्रिकेटरों की सर्जरी कर चुके हैं।

सीएसके के सीईओ काशी विश्वनाथ ने पीटीआई को बताया ,‘‘धोनी के घुटने का कोकिलाबेन अस्पताल में सफल आपरेशन हो गया है। वह ठीक है और आपरेशन सुबह ही हुआ है । मेरे पास विस्तृत जानकारी नहीं है। अभी मुझे इसका ब्यौरा मिलना बाकी है।’’

यह पता चला है कि धोनी को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है।सीएसके प्रबंधन के एक करीबी सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘‘ उन्हें पहले ही अस्पताल से छुट्टी मिल गयी है और वह रांची चले गये है। वह अपना रिहैबिलिटेशन शुरू होने से पहले कुछ दिनों के लिए घर पर आराम करेगे। उम्मीद है कि अगले आईपीएल से पहले उनके पास फिट होने का पूरा समय रहेगा।’’

धोनी ने पूरे सत्र में बायें घुटने पर पट्टी बांधकर खेला। विकेटकीपिंग करते समय वह ठीक नजर आये लेकिन बल्लेबाजी के लिये अमूमन आठवें नंबर पर उतरे और विकेटों के बीच दौड़ में लय में नहीं दिखे।

आईपीएल फाइनल के बाद धोनी ने कहा था ,‘‘ अगर परिस्थितियों को देखे तो मेरे लिये संन्यास लेने का यह सर्वश्रेष्ठ समय है। मेरे लिये यह कहना बहुत आसान है कि अब मैं विदा ले रहा हूं लेकिन अगले नौ महीने तक कड़ी मेहनत करके लौटना और एक सत्र और खेलना कठिन है।’’
ये भी पढ़ें
पाकिस्तान को 2-1 से हराकर भारत चौथी बार जीता जूनियर एशिया कप हॉकी टूर्नामेंंट