नॉक आउट मैच जैसा होगा कोलकाता बनाम हैदराबाद का मुकाबला, इन खिलाड़ियों पर रहेंगी निगाहें

पुनः संशोधित शनिवार, 14 मई 2022 (00:00 IST)
शनिवार को एमसीए स्टेडियम में के खिलाफ होने वाले आईपीएल के मुकाबले में प्लेऑफ की दावेदारी को पक्की करने के इरादे से उतरेगी। हैदराबाद 11 मैचों में 10 अंकों के साथ तालिका में छठे स्थान पर है। प्लेऑफ में पहुंचने के लिए हैदराबाद को अपने बचे तीनों मैच जीतने हैं और इसकी शुरुआत वह कोलकाता के खिलाफ मैच से करेगा। दूसरी तरफ कोलकाता 12 मैचों में 10 अंकों के साथ सातवें स्थान पर है और उसकी प्लेऑफ की संभावनाएं धूमिल हो चुकी हैं।

फिर भी किसी भी टीम की आठवीं हार पर ही उसको टूर्नामेंट से बाहर घोषित किया जा रहा है। इस कारण दोनों के लिए यह मुकाबला नॉक आउट मैच जैसा होगा।

हेड टू हेड रिकॉर्ड

हेड टू हेड रिकॉर्ड की बात करें तो कोलकाता का पलड़ा हैदराबाद पर अच्छा खासा भारी है। कुल 22 मैचों में से 14 मैच कोलकाता ने जीते हैं और 8 मैच हैदराबाद ने जीते हैं।

श्रेयस की कप्तानी है कोलकाता की ताकत

श्रेयस अय्यर की कप्तानी कोलकाता की ताकत बनकर उभरी है। भले ही मैच का नतीजा जैसा भी हो वह अपनी टीम को जीत के लिए हर संभव प्रयास करते हुए दिखते हैँ। शुरुआत में बुरे फॉर्म से जूझ रहे श्रेयस राजस्थान के खिलाफ फॉर्म में आ गए थे।हालांकि वह फॉर्म उन्होंने फिर खो दिया।

कोलकाता बन चुकी है वन मैन आर्मी

कोलाकाता की टीम ईकाई की तरह प्रदर्शन नहीं कर पा रही जैसा शुरुआती कुछ मैचों में दिखा था। जीत अब बस कुछ खिलाड़ियों के भरोसे दिखती है। बाद में बल्लेबाजी हो तो रसेल पहले बल्लेबाजी हो तो उमेश। इन दो खिलाड़ियों पर टीम ने अतिरिक्त दबाव में ला दिया है।हालांकि पिछले कुछ मैचों में 2-3 खिलाड़ियों ने प्रदर्शन सुधारा है लेकिन पैट कमिंस अब बाहर जा चुके हैं तो टीम को फिर नई टीम संयोजन के साथ खेलना पड़ेगा।

बल्लेबाजी में दिखने लग गई है हैदराबाद की कमजोरिया

जब तक हैदराबाद लगातार मैच जीत रही थी तब तक उसकी यह कमजोरी छुपी हुई थी। खासकर कप्तान केन विलियमसन की जो 100 के स्ट्राइक रेट से भी रन बनाने में विफल हो रहे हैं। अभिषेक शर्मा पिछले कुछ मैचों में शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाए हैं। इसके अलावा त्रिपाठी रंग में नहीं दिख रहे। टीम के लिए खुशखबरी यह है कि निकोलस पूरन फॉर्म में लौट आए हैं।

हैदराबाद की ताकत है गेंदबाजी

चेन्नई के खिलाफ भले ही हैदराबाद विकेट को तरस गई हो लेकिन आज भी हैदराबाद की गेंदबाजी इस आईपीएल की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी क्रम है। लगातार 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करने से यह दायें हाथ का तेज गेंदबाज मौजूदा आईपीएल में चर्चा का विषय बना हुआ है। जम्मू के इस गेंदबाज ने अभी तक 10 मैचों में 12 के स्ट्राइक रेट से 15 विकेट झटके हैं।

इसके अलावा टी नटराजन अभी तक 17 विकेट निकाल चुके हैं और सर्वाधिक विकेट लेने वालों की लिस्ट में चौथे स्थान पर है। ऐसे में अगर यानसेन और भुवनेश्वर का साथ मिल जाए तो यह गेंदबाजी क्रम खतरनाक लगने लगता है।

इन खिलाड़ियों पर रहेंगी निगाहें

नीतीश राणा ने साल 2018 में जब से कोलकाता के लिए खेलना शुरू किया हैं, वह टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बन गए हैं। धीमी शुरुआत के बाद उनकी गाड़ी पटरी पर लौट आई है और पिछले सात मैचों में चार बार उन्होंने 40 रनों का आंकड़ा पार किया हैं। अपने आईपीएल करियर में उन्होंने सर्वाधिक 394 रन सनराइज़र्स हैदराबाद के विरुद्ध ही बनाए हैं।

तेज गेंदबाजों उमेश यादव और पैट कमिंस की ग़ैरमौजूदगी में उम्मीद है कि आंद्रे रसेल गेंदबाज़ी में पूरे चार ओवर डालेंगे और विकेट अपने नाम करेंगे। वह 14 विकेटों के साथ कोलकाता के लिए इस सीज़न में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाज़ों की सूची में दूसरे स्थान पर है। रसेल ने इन दोनों टीमों के बीच इस सीज़न में खेले गए पिछले मुक़ाबले में दो विकेट लिए थे और 49 रन बनाये थे।

पहली पसंद नहीं होने के बावजूद टिम साउदी ने इस सीज़न में कोलकाता के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है। 7.22 की किफ़ायती इकॉनमी से गेंदबाज़ी करते हुए उन्होंने 12 विकेट झटके हैं। सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ अपने पिछले पांच मैचों में वह आठ की इकॉनमी से आठ शिकार कर चुके हैं।

उमरान मलिक की गेंदो को जहां बल्लेबाज छू भी नहीं पा रहे थे अब बाउंड्री पार पहुंचा रहे हैं। गुजरात के खिलाफ 25 रन देकर 5 विकेट लेने वाले उमरान मलिक को अब 3 मैचों से कोई विकेट नहीं मिला है। वह पिछले तीन मुक़ाबलों में डाले दस ओवरों में एक भी विकेट नहीं ले पाए हैं। इस दौरान उन्होंने 125 रन लुटाए हैं।कल भी यह ही हाल होगा या फिर कश्मीर एक्सप्रेस पटरी पर लौटेगी यह देखने वाली बात होगी।

हैदराबाद के एडन मारक्रम इस सीज़न में निरंतरता के साथ रन बनाने वाले खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। नौ पारियों में 65.20 की औसत और 142.98 के स्ट्राइक रेट से उनके नाम 326 रन है। कोलकाता के विरुद्ध इस सीज़न के पहले मुक़ाबले में मारक्रम ने 36 गेंदों पर नाबाद 68 रन बनाए थे। साथ ही इस मैदान पर एक मैच में वह अर्धशतकीय पारी खेल चुके हैं।

सनराइज़र्स के ख़ेमे में कई धाकड़ खिलाड़ी होने के बावजूद जगदीश सुचित इस सीज़न खेले गए चारों मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। प्रत्येक मैच में विकेट लेने वाले सुचित के नाम चार मैचों में 7.28 की इकॉनमी से छह विकेट हैं।

टीम इस प्रकार हैं :

कोलकाता नाइट राइडर्स: श्रेयस अय्यर (कप्तान), आरोन फिंच, अभिजीत तोमर, अजिंक्य रहाणे, बाबा इंद्रजीत, नीतीश राणा, प्रथम सिंह, रिंकू सिंह, अशोक शर्मा, पैट कमिंस, रसिख डार, शिवम मावी, टिम साउदी, उमेश यादव, वरुण चक्रवर्ती, अमन खान, आंद्रे रसेल, अनुकुल रॉय, चमिका करुणारत्ने, मोहम्मद नबी, रमेश कुमार, सुनील नारायण, वेंकटेश अय्यर, सैम बिलिंग्स, शेल्डन जैक्सन।

सनराइजर्स हैदराबाद: केन विलियमसन (कप्तान), अभिषेक शर्मा, राहुल त्रिपाठी, एडेन मार्कराम, निकोलस पूरन, अब्दुल समद, प्रियम गर्ग, विष्णु विनोद, ग्लेन फिलिप्स, आर समर्थ, शशांक सिंह, वाशिंगटन सुंदर, रोमेरियो शेफर्ड, मार्को यानसन, जे सुचित, श्रेयस गोपाल, भुवनेश्वर कुमार, सीन एबॉट, कार्तिक त्यागी, सौरभ तिवारी, फजलहक फारूकी, उमरान मलिक, टी नटराजन।



और भी पढ़ें :