मुंबई बनाम हैदाराबाद के मैच में ड्रीम टीम से ड्रॉप कीजिए दोनों कप्तानों को

Last Updated: मंगलवार, 17 मई 2022 (14:30 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई: सनराइजर्स हैदराबाद को यदि अगर-मगर की कठिन डगर पर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के प्लेऑफ में जगह बनाने की धुंधली उम्मीदें जीवंत रखनी हैं तो उसे मंगलवार को यहां मुंबई इंडियन्स के खिलाफ होने वाले मैच में अपनी लगातार पांच हार का सिलसिला तोड़ना होगा।



सनराइजर्स ने लगातार पांच जीतने के बाद लगातार पांच मैच गंवाये हैं। यदि वह अपने बाकी बचे दोनों मैच जीत जाता है तो उसके 14 अंक हो जाएंगे लेकिन प्लेऑफ में पहुंचने के लिये उसे अन्य टीम के मैचों में भी अनुकूल परिणाम की प्रार्थना करनी होगी। लेकिन यदि वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले मैच में उसे हार का सामना करना पड़ता है तो वह निश्चित तौर पर बाहर हो जाएगा, क्योंकि सात टीम के 12 या इससे अधिक अंक हैं।

हैदराबाद को बल्लेबाजी में बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत है। कप्तान केन विलियमसन इस सत्र में रन बनाने के लिये जूझते रहे हैं। उन्होंने 12 मैचों में केवल 208 रन बनाये हैं। उन्हें अपने असली रंग में लौटने की जरूरत है।

मुख्य कोच टॉम मूडी ने खराब फॉर्म में चल रहे विलियमसन से पारी की शुरुआत करवाने के फैसले का बचाव किया था और न्यूजीलैंड के इस खिलाड़ी को अपने कोच को सही साबित करना होगा।

उनके सलामी जोड़ीदार और पिछले मैच में 43 रन बनाने वाले अभिषेक शर्मा को अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदलना होगा। उन्हें हालांकि तेज गेंदबाजों के लिये अनुकूल पिच पर मुंबई के मजबूत आक्रमण से कड़ी चुनौती मिलेगी।

सनराइजर्स के पास मध्यक्रम में राहुल त्रिपाठी, एडेन मार्कराम और निकोलस पूरण के रूप में अच्छे बल्लेबाज हैं लेकिन उन्हें अपने खेल में निरंतरता बनाये रखनी होगी।

पिछले मैच में उसका मध्यक्रम भी नहीं चल पाया था जिसमें उसे कोलकाता नाइट राइडर्स ने 54 रन से हराया था। वाशिंगटन सुंदर और शशांक सिंह की ‘फिनिशर’ के रूप में भूमिका भी महत्वपूर्ण होगी।

सनराइजर्स की गेंदबाजी हालांकि मजबूत है जिसमें उमरान मलिक, भुवनेश्वर कुमार, मार्को यानसेन और यार्कर विशेषज्ञ टी नटराजन शामिल हैं।

मुंबई के बल्लेबाजों को विशेषकर मलिक से सतर्क रहने की जरूरत है जो अभी तक 18 विकेट ले चुके हैं। प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुके मुंबई ने पिछले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को पांच विकेट से हराया था जिससे उसका मनोबल बढ़ा होगा।

मुंबई के लिये कप्तान रोहित शर्मा और सबसे अधिक कीमत पर खरीदे गये इशान किशन की फॉर्म चिंता का विषय है। सूर्यकुमार यादव की अनुपस्थिति में इन दोनों को अधिक जिम्मेदारी लेनी होगी और टीम को आक्रामक शुरुआत देनी होगी।

तिलक वर्मा ने कम अनुभवी मध्यक्रम की जिम्मेदारी अच्छी तरह से संभाली है। डेनियल सैम्स, टिम डेविड, ट्राइस्टन स्टब्स और रमनदीप सिंह जैसे बल्लेबाजों के लिये सनराइजर्स के गेंदबाजों का सामना करना आसान नहीं होगा।

गेंदबाजी में तेज गेंदबाज सैम्स शुरू में विकेट लेने में माहिर हैं। जसप्रीत बुमराह और रिले मेरेडिथ भी अपनी भूमिका निभा रहे हैं। स्पिनर कुमार कार्तिकेय सिंह बीच के ओवरों में अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं।

आइए जान लेते हैं कि किस खिलाड़ी को लेने से आपको ड्रीम टीम में होगा भरपूर फायदा
Ishan Kishan

विकेटकीपर-
दोनों ही टीमों के विकेटकीपर बहुत तेज खेलने के लिए जाने जाते हैं लेकिन इस सत्र में वह अपनी छवि के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। इसके बावजूद ईशान किशन और निकोलस पूरन दोनों को ही जगह मिलनी चाहिए।

बल्लेबाज- तिलक वर्मा को इस टीम में जरूर शामिल करना चाहिए। इसके अलावा हैदराबाद से अभिषेक शर्मा और राहुल त्रिपाठी को शामिल किया जाना चाहिए।

ऑलराउंडर्स- दोनों ही टीमों में अच्छे खासे ऑलराउंडर्स है। हालांकि 2 नाम जिनको मौका जरूर मिलना चाहिए वह हैं- हैदराबाद के एडम मार्करम और मुंबई के टिम डेविड।

गेंदबाज- हैदराबाद की ताकत उनकी गेंदबाजी है। टी नटराजन और उमरान मलिक को शामिल कीजिए। मुंबई से जसप्रीत बमराह और डेनियल सेम्स को शामिल किया जा सकता है।

ड्रीम टीम- ईशान किशन, निकोलस पूरन, तिलक वर्मा, अभिषेक शर्मा, राहुल त्रिपाठी, एडम मार्करम, टिम डेविड, टी नटराजन, उमरान मलिक, जसप्रीत बमराह, डेनियल सेम्स

(कप्तान और उपकप्तान के दुगने और देढ़ गुने अंक मिलते तो अपनी समझ के अऩुसार यूजर कप्तान और उपकप्तान चुन सकते हैं।)

(सभी फैंटेसी पोर्टल पर नियम और अंको की व्यवस्था अलग अलग होती है इस कारण अंको की उपलब्धता और नियमों के हिसाब से आप टीम में फेरबदल कर सकते हैं)



और भी पढ़ें :