शाहरुख के छक्के ने किया प्रीति को खुश, पंजाब ने कोलकाता को हराया 5 विकेट से

Last Updated: शनिवार, 2 अक्टूबर 2021 (00:02 IST)
हमें फॉलो करें
दुबई:पंजाब ने एक आसान सी जीत को एक बार फिर मुश्किल बनाया लेकिन अंतिम ओवर में फील्डर की एक गलती से पंजाब 5 विकेट से जीत गय। विजयी शॉट ने मारा और शाहरुख की टीम कोलकाता को हरा दिया।

यह गेंद फील्डर के हाथ में गई लेकिन बाउंड्री के पास होने के कारण गेंद सीमा पार चली गई। अय्यर के अंतिम ओवर में पंजाब ने अर्धशतक जमा चुके केएल राहुल का भी विकेट गंवाया लेकिन आज किस्मत पंजाब के पक्ष में थी।

केकेआर ने पहले बल्लेबाजी के लिये आमंत्रित किये जाने पर सात विकेट पर 165 रन बनाये। पंजाब ने 19.3 ओवर में पांच विकेट पर 168 रन बनाकर जीत दर्ज की।
के एल राहुल की कप्तानी पारी से ने शुक्रवार को यहां (केकेआर) को पांच विकेट से हराकर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को नया जीवन दिया।

पंजाब के सामने 166 रन का लक्ष्य था। राहुल (55 गेंदों पर 67 रन, चार चौके, दो छक्के) ने मयंक अग्रवाल (27 गेंदों पर 40, तीन चौके, तीन छक्के) के साथ पहले विकेट के लिये 70 रन जोड़े। राहुल ने एक छोर संभाले रखा जबकि शाहरूख खान ने भाग्य के दम पर नौ गेंदों पर दो छक्कों की मदद से नाबाद 22 रन बनाये जिससे पंजाब 19.3 ओवर में पांच विकेट पर 168 रन बनाकर रोमांचक जीत दर्ज करने में सफल रहा। केकेआर ने खराब क्षेत्ररक्षण का भी खामियाजा भुगता।

इससे पहले वेंकटेश अय्यर (49 गेंदों पर 67, नौ चौके, एक छक्का) ने राहुल त्रिपाठी (26 गेंदों पर 34 रन, तीन चौके, एक छक्का) के साथ दूसरे विकेट के लिये 72 रन जोड़कर टीम को शुरुआती झटके से उबारा। इन दोनों के अलावा नितीश राणा ने 18 गेंदों पर दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 31 रन का योगदान दिया, लेकिन बाकी बल्लेबाज नहीं चले और केकेआर सात विकेट पर 165 रन ही बना पाया।

पंजाब की 12 मैचों में यह पांचवीं जीत है जिससे उसके 10 अंक हो गये हैं। केकेआर के भी 12 मैचों में 10 अंक हैं।

राहुल और अग्रवाल ने फिर से पंजाब को अच्छी शुरुआत दिलायी। अग्रवाल का टिम साउदी की दूसरी गेंद पर ही इयोन मोर्गन ने आसान कैच छोड़ा। उन्होंने इसका फायदा उठाकर साउदी, सुनील नारायण और अय्यर पर छक्के जमाये, लेकिन वरुण चक्रवर्ती (24 रन देकर दो) की गेंद पर जब उन्होंने फिर से मोर्गन की तरफ गेंद उछाली तो इस बार केकेआर के कप्तान ने गलती नहीं की।

चक्रवर्ती ने इसके बाद नये बल्लेबाज निकोलस पूरण (12) को भी पवेलियन भेजा जिन्होंने इससे पहली वाली गेंद को लांग ऑन पर छक्के के लिये भेजा था। राहुल ने एक छोर संभाले रखा। उन्होंने पहले अय्यर और फिर साउदी पर छक्का जड़कर 43 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। एडेन मार्कराम (18) ने नारायण पर छक्का लगाने के बाद इसी ओवर में सीमा रेखा पर कैच दिया।

दीपक हुड्डा (तीन) ने आते ही शिवम मावी की धीमी गेंद पर लंबा शॉट खेलकर कैच दिया। अय्यर ने शाहरूख के शॉट को कैच में बदलने की नाकाम कोशिश की जो छक्का हो गया।

पंजाब को आखिरी दो ओवरों में 15 रन चाहिए थे। राहुल का भाग्य ने साथ दिया जब तीसरे अंपायर ने कैच को सही नहीं माना। उन्होंने ओवर की पहली और अंतिम गेंद पर चौका लगाया लेकिन जब टीम को पांच गेंद पर चार रन चाहिए थे तब उन्होंने सीमा रेखा पर कैच थमा दिया। शाहरुख ने विजयी छक्का लगाया, लेकिन तब त्रिपाठी ने कैच छोड़ दिया था।

इससे पहले केकेआर ने आखिरी पांच ओवर में 44 रन बनाये और चार विकेट गंवाये। मोहम्मद शमी (23 रन देकर एक) और अर्शदीप सिंह (32 रन देकर तीन) ने अंतिम दो ओवर में केवल 14 रन दिये। बीच के ओवरों में लेग स्पिनर रवि बिश्नोई (22 रन देकर दो) ने बल्लेबाजों पर अंकुश लगाये रखा।

शुभमन गिल (सात) फिर से केकेआर को अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे। अर्शदीप ने उन्हें तेजी से अंदर आती गेंद पर बोल्ड किया। दूसरे सलामी बल्लेबाज अय्यर ने हालांकि अपनी अच्छी फार्म बरकरार रखी। उन्होंने अपने नैसर्गिक अंदाज में कई अच्छे शॉट लगाये और पावरप्ले तक स्कोर 48 रन पर पहुंचाया।

अय्यर का प्रत्येक शॉट जानदार था तो त्रिपाठी भी जल्द टीम की रणनीति के अनुरूप आक्रामक हो गये। उन्होंने बायें हाथ के स्पिनर फैबियन एलेन पर पारी का पहला छक्का और फिर नाथन एलिस पर दो करारे चौके लगाये, लेकिन बिश्नोई की गुगली पर सही टाइमिंग से शॉट नहीं लगाने के कारण लांग ऑन पर लपक लिये गये।

अय्यर ने 39 गेंदों पर आईपीएल का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा करने के बाद एलेन की गेंद डीप मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजकर टीम का स्कोर तिहरे अंक में पहुंचाया। इसके बाद उन्होंने एलिस पर दो दर्शनीय चौके लगाये जिनमें ताकत और कौशल का अद्भुत मेल था। लेकिन बिश्नोई की गुगली पर स्लॉग स्वीप करने के प्रयास में उन्होंने आसान कैच दे दिया।

कप्तान इयोन मोर्गन (दो) की खराब फॉर्म जारी रही जबकि राणा ने एलिस और अर्शदीप पर छक्के जड़ने के बाद सीमा रेखा पर कैच थमाया। अर्शदीप ने दिनेश कार्तिक (11) को आखिरी गेंद पर बोल्ड किया।



और भी पढ़ें :