चेन्नई सुपर किंग्स के लिए यह 3 खिलाड़ी रहे जीत के स्टार्स

Last Updated: शनिवार, 17 अप्रैल 2021 (00:34 IST)
गुरुवार को राजस्थान तो शुक्रवार को जब कागज पर कमजोर टीमें अपनी से सशक्त टीमों को हराती है तो आईपीएल टूर्नामेंट में चार चांद लग जाते हैं। चेन्नई सुपर किंग्स ने आज ऐसे ही पहला मैच जीत चुकी पर 6 विकेट से फतह हासिल की।

चेन्नई सुपर किंग्स मैच की शुरुआत से ही पकड़ में लग रही थी और पंजाब किंग्स का टॉप ऑर्डर पूरी तरह विफल हो गया। पहले 5 बल्लेबाजों में से एक भी बल्लेबाज बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकामयाब रहा। इसका फायदा चेन्नई सुपर किंग्स को मिला। 20 ओवर में सिर्फ 107 रनों का लक्ष्य मिला जिसके लिए 6 से भी कम रन गति चाहिए थी।

बहरहाल चेन्नई सुपर किंग्स की जीत में यह खिलाड़ी रहे जीत के स्टार्स -
-
क्रिकेट में कहते हैं कि जब तक आखिरी रन पूरा ना हो जाए किसी की जीत सुनिश्चित नहीं है। पहले मैच में शून्य पर आउट होने वाले फाफ डू प्लेसिस ने इस बार संभल कर खेला और यह तय किया कि सामने के छोर पर बल्लेबाज आउट भी हो जाए तो वह विकेट नहीं फेंकेंगे और टीम को जिता कर ही डग आउट में लौटेंगे। डू प्लेसिस 33 गेंदों में 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 36 रन बनाकर नाबाद रहे।
मोइन अली-
107 रनों का पीछा करने उतरी चेन्नई की टीम का पहला विकेट जल्दी गिर गया था। इसके बाद मोइन अली को बल्लेबाजी में एक बार फिर ऊपर भेजा गया और उन्होंने फाफ के साथ 66 रनों की साझेदारी की। इस साझेदारी में उन्होंने आकर्षक शॉट्स लगाए। मोईन 31 गेंदों में सात चौकों और एक छक्के की मदद से 46 रन बनाकर मुरुगन अश्विन की गेंद पर शाहरुख़ खान के हाथों कैच आउट हुए। लेकिन इस साझेदारी से चेन्नई जीत की दहलीज तक पहुंच गई।

यही नहीं गेंदबाजी में भी मोइन ने आज कमाल किया। उन्होंने 3 ओवर में 17 रन देकर 1 विकेट लिया। मोइन ने जाय रिचर्डसन की गिल्लियां उड़ा दी।
दीपक चाहर-
जिस गेंदबाज ने चेन्नई सुपर किंग्स की जीत की पटकथा लिखी उसका नाम तो इस फहरिस्त में होना ही चाहिए। किसी ने नहीं सोचा था कि खतरनाक बल्लेबाजों से सजी पंजाब किंग्स 20 ओवरों में सिर्फ 106 रन ही बना पाएगी यह मुमकिन हुआ वानखेड़े स्टेडियम में की गई की स्विंग गेंदबाजी से।

दीपक चाहर ने पहले ही ओवर में पंजाब को बड़ा झटका देकर मयंक अग्रवाल को बेल्ड कर दिया। इसके बाद यूनिवर्सल बॉस क्रिस गेल का एक शानदार कैच जड़ेजा ने चाहर की गेंद पर लिया। इसके बार निकोलस पूरन भी अपना खाता नहीं खोल सके। चाहर ने पिछले मैच में विस्फोटक पारी खेलने वाले हुड्डा को भी सस्ते में निपटाद दिया। चाहर के चारों विकेट पंजाब किंग्स के टॉप ऑर्डर के थे जिससे पंजाब किंग्स की बल्लेबाजी की रीढ़ टूट गई।
यह उनके आईपीएल करियर का सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। दिलचस्प बात यह है कि 4 ओवर के स्पैल में उन्होंने 18 गेंदो में कोई रन ही नहीं दिया और 13 रन देकर 4 विकेट लिए। इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार दिया गया। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :