टी-20 विश्वकप की गाड़ी छूटने के बाद अब चहल का ध्यान बचे हुए IPL में RCB के लिए विकेट निकालने पर

Yuzvendra Chahal
बेंगलुरु: भारतीय स्पिनर के लिए पिछला हफ्ता किसी बड़े धक्के से कम नहीं था। टी-20 क्रिकेट में भारत की ओर से सर्वाधिक विकेट लेने वाले चहल को में जगह नहीं दी गई थी। वहीं रविचंद्रन अश्विन को 4 साल बाद टी-20 टीम में लिया गया वह भी विश्वकप में। खैर अब उन्होंने इन सब बातों के बारे में सोचना छोड़ दिया है।

भारतीय लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने कहा है कि वह के दूसरे चरण के मद्देनजर कोराेना से जल्द से जल्द ठीक होने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं और उन्हें उम्मीद है कि श्रीलंका में मिली लय आईपीएल के दूसरे चरण में भी जारी रहेगी।

चहल ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक लेख में कहा, “ मेरा पूरा ध्यान आईपीएल पर है। अभी बात सिर्फ जल्द से जल्द ठीक होने की है, क्योंकि कोरोना के बाद पूरी तरह ठीक होने में कुछ समय लगता है। श्रीलंका में मुझे जो लय मिली थी उसे मैं आईपीएल के दौरान भी जारी रखूंगा। ”

श्रीलंका में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद चहल को मेजबान टीम के खिलाफ आखिरी दो टी-20 मैचों से बाहर बैठना पड़ा था। इससे पहले वह श्रीलंका के खिलाफ दो वनडे मैचों में पांच विकेट के साथ वनडे सीरीज में सर्वाधिक विकेट लेने गेंदबाज रहे थे।

चहल ने आरसीबी की जर्सी को तब तक पहनते रहने की महत्वाकांक्षा व्यक्त की है जब तक वह इसे छोड़ने का फैसला नहीं कर लेते। उन्होंने इस बारे में कहा, “ मैं आरसीबी से संन्यास लेना चाहता हूं और मेरा हमेशा यह सपना रहेगा कि मैं जब भी आईपीएल में खेलूं तो आरसीबी के लिए ही खेलूं। ”

ग्लेन मैक्सवेल के पुनरुत्थान पर चहल ने कप्तान विराट कोहली को यह कहते हुए श्रेय दिया कि मैक्सवेल कप्तान की अपेक्षाओं को जानते थे। चहल ने कहा, “ मुझे लगता है कि किसी खिलाड़ी के खेलने के तरीके में आए बदलाव में कप्तान के बहुत मायने हैं। मैक्सवेल जानते हैं कि हमारे कप्तान भारतीय टीम के भी कप्तान हैं, जिन्हें ढीला रवैया पसंद नहीं है। उन्हें तब अच्छा लगता है जब आप मैदान पर अपना 100 प्रतिशत देते हैं, चाहे आप कुछ भी करें। मैक्सवेल को पता था कि अन्य आईपीएल फ्रेंचाइजी में वह जो ढिलाई बरत रहे थे वह यहां नहीं कर पाएंगे। ”

उल्लेखनीय है कि आईपीएल 2020 सीजन में विफल रहने के बाद सीमित ओवर प्रारूप में मैक्सवेल की बल्लेबाजी की क्षमता पर सवालिया निशान खड़ा हो गया था, जिसका जवाब उन्होंने इस साल आईपीएल के पहले चरण में आरसीबी के लिए खेलते हुए छह पारियों में 223 रन बनाकर दिया।(वार्ता)



और भी पढ़ें :