IPL-13 : हैदराबादी 'बिरयानी' के आगे पंजाब के 'राजमा चावल' हुए फेल

David Warner, Jonny Bairstow
बाद हैदरा‍बादी बिरयानी...शारजाह में इस बिरयानी ने पंजाब के 'राजमा चावल' को (IPL-13) मुकाबले में फेल किया, उसके कारण कप्तान केएल राहुल का हाजमा जरूर खराब हुआ होगा। टी20 जैसे मसाला क्रिकेट के तमाशे में 69 रनों की हार बहुत बड़ी मानी जाती है और ऐसी कड़वी हार का घूंट (KXIP) को (SRH) के हाथों पीना पड़ा।
वापसी के दरवाजे लगभग बंद : जिस प्रकार से आईपीएल के मुकाबले यूएई में खेले जा रहे हैं, वहां पर 202 रनों का लक्ष्य अर्जित करना किंग्स इलेवन के बल्लेबाजों के लिए कोई चांद से तारे तोड़कर लाने जैसा नहीं था। लेकिन पंजाबी शेर 132 रनों पर ढेर हो गए, वो भी 16.5 ओवर के खेल में। इस हार के कारण पंजाब की आईपीएल में वापसी के सभी दरवाजे बंद जैसे ही हो गए हैं। इस वक्त वह 8 टीमों में आखिरी पायदान पर है।
file photo
प्रीति जिंटा निराश : कुछ करिश्मा करने के मंसूबों के साथ किंग्स इलेवन पंजाब में उतरी और टीम मालिक प्रीति जिंटा ने केएल राहुल को कप्तानी का भार इसलिए सौंपा ताकि वे अकेले के दम पर पंजाब के पिछले प्रदर्शन को सुधार सकें। हुआ बिलकुल उलटा। पंजाब को 6 मैचों में पांचवीं हार का सामना करना पड़ा। हां, राहुल भले ही हैदराबाद के खिलाफ मैच में 11 रनों पर आउट हुए लेकिन उससे पहले वे अकेले ही रन बना रहे थे। टीम के प्रदर्शन से प्रीती भी निराश हैं।
पंजाब को 6 मैचों में मिली सिर्फ 1 जीत : अपने 6 मैचों में पंजाब को एकमात्र जीत दुबई में 24 सितम्बर को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ 97 रनों की मिली थी, उसके बाद से टीम को कभी जीत का जश्न मनाने का मौका नहीं मिला। इस मैच में केएल राहुल ने 132 रनों की नाबाद पारी खेली थी। यूं देखा जाए तो राहुल शतक के अलावा 2 अर्धशतक भी जड़ चुके हैं लेकिन कमजोर गेंदबाजी आक्रमण के कारण उनकी तमाम मेहनत पर पानी फिरता रहा। वह भी तब जबकि मोहम्मद शमी जैसा माहिर गेंदबाज टीम में है।
बल्लेबाजी के स्वर्ग में रनों की बरसात : शारजाह का विकेट बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग इसलिए माना जाता है क्योंकि यहां पर रनों की बारिश होती है। यही कारण है कि कप्तान वॉर्नर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। वॉर्नर और बेयरस्टो पंजाब के गेंदबाजों पर भूखे शेर की मानिंद टूट पड़े और इस जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़ डाले।

बिश्नोई के एक ही ओवर में 2 बड़े शिकार : स्पिनर ने 16वें ओवर की पहली गेंद पर वॉर्नर (52) का शिकार किया और पांचवीं गेंद पर बेयरस्टो को पगबाधा आउट करके उन्हें मात्र 3 रन से शतक लगाने से वंचित कर डाला लेकिन तब तक बेयरस्टो 55 गेंदों पर 7 चौकों व 6 छक्कों की मदद से 93 रनों की आतिशी पारी खेल चुके थे।
शेष बल्लेबाज 41 रन ही जोड़ सके : हैदराबाद के आने वाले बल्लेबाज मजबूत नींव का लाभ नहीं उठा सके और कुल 41 रन ही जोड़ सके। आउट होने वाले सूरमा थे अब्दुल समद (8), मनीष पांडे (1), प्रियम गर्ग (0) और अभिषेक शर्मा (12)। विलियम्सन (20) के साथ 0 पर नाबाद लौटे। पंजाब के लिए रवि बिश्नोई 3 ओवर में 29 रन देकर 3 विकेट लेने में सफल रहे।
ने खूंटा गाड़ा : जब पंजाब की बल्लेबाजी का पतझड़ जारी था, तब निकोलस पूरन विकेट के एक छोर पर खूंटा गाड़कर खड़े थे और उनके बल्ले से निकले 77 रन, वह भी मात्र 37 गेंदों में। पूरन ने अपनी चमकीली पारी में 5 चौके के अलावा 7 छक्के भी उड़ाए। 15वें ओवर में राशिद खान ने हैदराबाद पर मंडरा रहे संकट को पूरन के विकेट लेकर खत्म किया। पूरन 126 रन के कुल स्कोर पर सातवें विकेट के रूप में आउट हुए और यहीं पर पंजाब की उम्मीदें खत्म भी हो गई। पूरी टीम 16.5 ओवर में 132 रनों पर धराशायी हो गई।
अफगानी खान का जादुई प्रदर्शन : अफगानिस्तानी स्पिनर राशिद खान ने भुवनेश्वर कुमार की कमी खलने नहीं दी और 4 ओवर में 12 रन की कीमत पर 3 विकेट झटक कर वॉर्नर को खुश कर दिया। सैयद खलील अहमद और टी नटराजन ने भी दूसरे छोर से 2-2 विकेट झटककर हैदराबाद को न केवल मौका जश्न मनाने का दिया, बल्कि अंक तालिका में भी उसे छठे से सीधे तीसरे स्थान पर पहुंचा दिया।



और भी पढ़ें :