IPL 2020 : ऋषभ पंत के लिए बड़ा खतरा बन रहे हैं संजू सैमसन

पुनः संशोधित सोमवार, 28 सितम्बर 2020 (21:05 IST)
दुबई। विकेटकीपर बल्लेबाज (Sanju Samson) 13 (IPL 13) में अपनी टीम (Rajasthan Royals) की शानदार शुरुआत और 2 जीतों में मैच विजयी प्रदर्शन के बाद भारत के सीमित ओवरों के विकेटकीपर बल्लेबाज (Rishabh Pant) के लिए खतरा बनते जा रहे हैं। 25 साल के सैमसन ने आईपीएल 13 में अपनी टीम के पहले 2 मैचों में (Chennai Super Kings) के खिलाफ 74 रन और (Kings XI Punjab) के खिलाफ 85 रन बनाए हैं।
सैमसन ने दोनों ही मैचों में कुल 16 छक्के मारे हैं। पंजाब के खिलाफ उन्होंने 85 रन में सात छक्के और चेन्नई के खिलाफ 74 रन में नौ छक्के उड़ाए थे। दोनों ही मैचों में वह मैन ऑफ द मैच बने थे। केरल के त्रिवेंद्रम के खिलाड़ी सैमसन अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए पहले ही जाने जाते थे लेकिन इस आईपीएल ने उनकी इस प्रतिष्ठा
में एक झटके में बड़ा इजाफा कर दिया है। उनके मुकाबले भारत की सीमित ओवरों की टीम के सदस्य पंत ने पंजाब के खिलाफ 31 औऱ चेन्नई के खिलाफ नाबाद 37 रन बनाए थे।

प्रदर्शन के लिहाज से सैमसन फिलहाल पंत से काफी आगे दिखाई दे रहे हैं और उन्होंने दो ही मैचों के बाद सीमित ओवरों की टीम इंडिया के लिए अपनी दावेदारी पुख्ता की है। आईपीएल में सैमसन ने 2013 से खेलना शुरु किया था लेकिन वह 2017 से नजरों में चढ़ने शुरु हुए।

सैमसन अपने 95 मैचों में 2368 रन बना चुके हैं जबकि 2016 से आईपीएल में खेल रहे पंत ने 56 मैचों में 1804 रन बनाए हैं। छक्के उड़ाने के मामले में दोनों खिलाड़ी काफी महारत रखते हैं। सैमसन ने जहां 95 मैचों में 105 छक्के उड़ाए हैं वहीं पंत ने 56 मैचों में 94 छक्के उड़ाए हैं। सैमसन ने कल के मैच में सात छक्के उड़ाकर आईपीएल में छक्कों का शतक पूरा किया।
सैमसन की शानदार बल्लेबाजी में आईपीएल में कमेंट्री कर रहे पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर को काफी प्रभावित किया है। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मौजूदा अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने सैमसन को विशेष टेलेंट बताया है जबकि कांग्रेस सांसद शशि थरुर ने ट्वीट कर सैमसन को अगला महेंद्र सिंह धोनी करार दिया है।

पंजाब ने रविवार के मुकाबले में 223 रन का विशाल स्कोर बनाया था और राजस्थान ने सैमसन की 42 गेंदों पर 85 रन की विस्फोटक पारी के दम पर तीन गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया था। भारतीय कप्तान विराट कोहली, सीमित ओवरों के उपकप्तान रोहित शर्मा और पंत की आईपीएल टीम दिल्ली कैपिटल्स के मुख्य कोच
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने पंत का लगातार समर्थन किया है और उन्हें विशेष प्रतिभा बताया है, लेकिन पिछले एक वर्ष के अंतरराष्ट्रीय आंकड़े पंत का समर्थन नहीं कर पा रहे हैं।

इंग्लैंड में पिछले वर्ष हुए एकदिवसीय विश्व कप के बाद से पंत ने 11 टी-20 अंतरराष्ट्रीय पारियों में मात्र एक अर्धशतक बनाया है और वह अपनी प्रतिभा के साथ पूरी तरह न्याय नहीं कर पाए हैं। पंत ने 16 वनडे के अपने करियर में मात्र एक अर्धशतक बनाया है। पंत विस्फोटक बल्लेबाज हैं और उनमें मैच का रुख बदलने की क्षमता है लेकिन निर्णायक मौकों पर विकेट गंवाने की कमजोरी उनके आड़े आ जाती है।

दिल्ली के पंत के लिए आईपीएल हालांकि अच्छा मंच रहा है जहां उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन किया है। आईपीएल के आंकड़ों को देखें तो पंत ने पिछले तीन सत्र में न केवल अपनी टीम की ओर से बल्कि टूर्नामेंट के सभी खिलाड़ियों के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन किया है। पंत पिछले तीन सत्रों के दौरान सबसे ज्यादा रन और छक्के जड़ने वाले खिलाड़ी हैं।

पंत ने पिछले तीन आईपीएल सत्रों में 88 छक्कों की मदद से 1538 रन बनाए थे। इन सत्रों में उनके बाद उनके दिल्ली टीम साथी शिखर धवन ने 1497, सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर ने 1333 और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने 1302 रन बनाए थे। 50 से ज्यादा आईपीएल मैच खेलने वाले खिलाड़ियों में पंत मुंबई इंडियंस के कीरोन पोलार्ड और इयान हार्वे के अलावा तीसरे ऐसे खिलाड़ी हैं जिनका औसत 30 से ऊपर और स्ट्राइक रेट 150 से अधिक है।
पंत ने मौजूदा आईपीएल के दो मैचों में हालांकि अच्छी शुरुआत की है लेकिन उन्हें सैमसन की तरह बड़ी और विस्फोटक पारी का प्रदर्शन करना होगा। यह टूर्नामेंट की शुरुआत है और टूर्नामेंट अभी काफी लंबा होना है। ऐसे में सैमसन और पंत के प्रदर्शन पर चयनकर्ताओं की नजदीकी निगाह रहेगी। भारत को अगले वर्ष अक्टूबर-नवंबर में टी-20 विश्वकप की मेजबानी करनी है और यह आईपीएल दोनों ही विकेटकीपर बल्लेबाजों के लिए निर्णायक साबित होगा।(वार्ता)



और भी पढ़ें :