1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. अंतरराष्ट्रीय
  4. Top White House official Kurt Campbell praised India
Written By
Last Updated: शुक्रवार, 9 दिसंबर 2022 (11:40 IST)

व्हाइट हाउस ने कहा, भारत न केवल अमेरिका का एक सहयोगी बल्कि एक बड़ी ताकत बनकर उभरेगा

वॉशिंगटन। व्हाइट हाउस के शीर्ष अधिकारी कर्ट कैंपबेल ने गुरुवार को कहा कि भारत न केवल अमेरिका का एक सहयोगी, बल्कि एक बड़ी ताकत बनकर उभरेगा। उन्होंने कहा कि पिछले 20 वर्षों में भारत और अमेरिका के द्विपक्षीय संबंध जितनी तेजी से मजबूत एवं गहरे हुए हैं, वैसा किसी भी अन्य द्विपक्षीय संबंध के साथ नहीं हुआ।
 
'ऐस्पन सिक्योरिटी फोरम' की यहां आयोजित एक बैठक में भारत के संदर्भ में किए एक सवाल के जवाब में व्हाइट हाउस के एशिया मामलों के समन्वयक कैंपबेल ने कहा कि उनका मानना है कि 21वीं सदी में भारत के साथ द्विपक्षीय संबंध अमेरिका के लिए सबसे महत्वपूर्ण हैं।
 
व्हाइट हाउस के शीर्ष अधिकारी ने कहा कि यह एक तथ्य है कि मैंने पिछले 20 साल में अमेरिका और भारत जैसे कोई द्विपक्षीय संबंध नहीं देखे, जो इतनी तेजी से गहरे एवं मजबूत हो रहे हैं। कैंपबेल ने कहा कि अमेरिका को अपनी क्षमता का और इस्तेमाल करने की जरूरत है और प्रौद्योगिकी व अन्य मुद्दों पर एक साथ काम करते हुए लोगों के बीच आपसी संपर्क कायम करने की आवश्यकता है।
 
कैंपबेल ने कहा कि भारत केवल अमेरिका का एक सहयोगी नहीं होगा। वह एक स्वतंत्र, शक्तिशाली देश बनने की इच्छा रखता है और वह एक और बड़ी ताकत बनकर उभरेगा। कैंपबेल ने कहा कि मेरा मानना है कि यह एक ऐसा रिश्ता है जिसमें कुछ महत्वाकांक्षा होनी चाहिए। हमें उन क्षेत्रों पर गौर करना चाहिए, जहां हम एकसाथ काम कर सकते हैं, चाहे वह अंतरिक्ष हो, शिक्षा हो, जलवायु हो या प्रौद्योगिकी। हमें इस दिशा में आगे बढ़ना चाहिए।
 
उन्होंने कहा कि अगर आप पिछले 20 वर्षों पर नजर डालेंगे और उन बाधाओं पर गौर करेंगे जिन्हें पार किया गया और हमारे दोनों पक्षों के बीच संबंधों की गहराई देखेंगे तो यह उल्लेखनीय है। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत-अमेरिका संबंध केवल चीन को लेकर चिंता के कारण नहीं बने हैं। कैंपबेल ने कहा कि ये हमारे समाजों के बीच महत्वपूर्ण तालमेल पर आधारित हैं।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
कश्मीर में जानवरों और इंसानों के बीच संघर्ष, 16 सालों में 241 की मौत, 3 हजार से ज्यादा जख्मी