रूस के विनाशक मिसाइल क्रूजर से अमेरिका और तुर्की में घबराहट...

Last Updated: बुधवार, 9 दिसंबर 2015 (12:58 IST)
ने सीरिया में तुर्की द्वारा उसके युद्धक विमान को गिराए जाने के बाद क्षेत्र में अपनी सैन्य शक्ति में इजाफा करते हुए कॉस्पियन सागर में अपनी नौसेना के विनाशकारी और खतरनाक मिसाइल क्रूजर मिश्का को तैनात कर दिया है। रूस के रक्षामंत्री सर्गेइ शोइगु ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि  रूस ने कैस्पियन सागर में पनडुब्बी के अलावा मिसाइल क्रूजर भी तैनात कर दिया है। 
रक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि रूस के इस कदम से अमेरिका और तुर्की में घबराहट फैल गई है क्योंकि शीतयुद्ध के बाद यह पहला मौका है जब रूस ने खुलकर अपनी ताकत का इजहार किया है। रूस ने अमेरिका द्वारा सीरिया के सेना को निशाना बनाने की भी कड़ी निंदा करते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इसकी शिकायत की थी। उल्लेखनीय है कि तुर्की ने रूस के विमान को मार गिराया था जिसके बाद से ही रूस ने आक्रमक तेवर अख्तियार कर लिए हैं।
रूसी मिसाइल क्रूजर 2500 किमी तक के क्षेत्र में हमला करने में सक्षम है और अत्यंत खतरनाक हथियारों से लैस है।   

रूस के रक्षामंत्री ने कहा कि हमने कॉस्पियन सागर में तैनात रोस्तोवॉन डॉन पनडुब्बी से मिसाइल सीरिया के रक्का शहर स्थित के दो बड़े ठिकाने को निशाना बनाकर दागी गईं हैं। कैलिबर मिसाइल को रोस्तोवॉन डॉन पनडुब्बी से दागा गया। उन्होंने बताया कि हमले में आईएस के कई ठिकाने, हथियार और तेल टैंकर तबाह हो गए। 
 
उन्होने कहा कि पनडुब्बी से मिसाइल दागने की योजना के बारे में रूस ने पहले ही इजरायल और अमेरिका को जानकारी दे दी थी। उन्होंने यह भी बताया कि रूसी वायुसेना ने तीन दिन पहले सीरिया में तीन सौ बार हवाई हमले किए थे। 
 
जानिए रूस ने क्यों भेजी है मिसाइल क्रूजर, अगले पन्ने पर... 


और भी पढ़ें :