चीन, रूस के हैकरों के निशाने पर है US राष्ट्रपति चुनाव अभियान

पुनः संशोधित शुक्रवार, 11 सितम्बर 2020 (12:26 IST)
हमें फॉलो करें
वॉशिंगटन। अमेरिका की टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने कहा है कि देश में होने वाले राष्ट्रपति चुनावों के अभियानों में शामिल लोगों और संगठनों को रूस, और के साइबर हमलावर निशाना बना रहे हैं।


कंपनी ने अपने ब्लॉग में लिखा- 'हाल के हफ्तों में माइक्रोसॉफ्ट ने आगामी राष्ट्रपति चुनाव में शामिल लोगों और संगठनों को निशाना बनाने वाले साइबर हमले का पता लगाया है, जिसमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विपक्षी उम्मीदवार जो बिडेन के अभियानों से जुड़े लोगों पर असफल हमले शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि इस तरह के हमले अप्रत्याशित नहीं थे, आज हम जिस गतिविधि की घोषणा कर रहे हैं, उससे स्पष्ट होता है कि विदेशी समूहों ने 2020 के चुनाव को निशाने पर लेने के अपने प्रयासों को आगे बढ़ाया है, जैसा कि पहले से ही मालूम था।
माइक्रोसॉफ्ट ने हमलावरों की पहचान हैकर समूहों स्ट्रोंशियम, जर्कोनियम और फॉस्फ़ोरस के रूप में की है, जो क्रमशः रूस, चीन और ईरान से संचालित होते हैं।

हैकर समूह स्ट्रोंशियम के निशाने पर रिपब्लिकन और डेमोक्रेट्स की सेवा देने वाले अमेरिकी-आधारित सलाहकार, थिंक टैंक, अमेरिका में राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय राजनीतिक दल एवं संगठन तथा ब्रिटेन की राजनीतिक पार्टियां शामिल हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :