ट्रंप की मौजूदगी में मोदी का इमरान पर अटैक, सो नहीं पाएंगे Pakistan के प्रधानमंत्री

पुनः संशोधित सोमवार, 23 सितम्बर 2019 (01:22 IST)
ह्यूस्टन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को Modi कार्यक्रम में पाकिस्तान का नाम लिए बगैर इमरान खान पर कई हमले किए, जिसके कारण आज रात को कम से कम वो सो नहीं पाएंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की मौजूदगी में कहा कि जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के भारत के फैसले से वे लोग परेशान हैं, जो अपने ही देश को नहीं संभाल पा रहे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आतंकवाद के समर्थन के लिए पाकिस्तान पर जमकर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ ‘निर्णायक लड़ाई’ का भी आह्वान किया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उपस्थिति में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में आतंकवाद के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए यह बात कही। उन्होंने पाकिस्तान और उसके प्रधानमंत्री इमरान खान का नाम लिए बिना दोनों पर निशाना साधा।
ALSO READ:
: मोदी ने ट्रंप को बताया विशेष शख्सियत, दिया- 'अगली बार ट्रंप सरकार' का नारा
मोदी ने कहा, अनुच्छेद 370 ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद एवं अलगाववाद को बढ़ावा दिया। उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराओं को 5 अगस्त को निरस्त कर दिया और संसद में इस कदम को मंजूरी दी गयी।
प्रधानमंत्री ने इस फैसले का उल्लेख करते हुए कहा कि देश के सामने 70 साल से एक बड़ी चुनौती थी, जिसे कुछ दिन पहले भारत ने ‘फेयरवेल’ दे दिया है। प्रधानमंत्री के इतना कहते ही एनआरजी स्टेडियम में बैठे करीब 50 लोगों ने तालियां बजाकर मोदी सरकार के इस फैसले का समर्थन किया
मोदी ने कहा कि अनच्छेद 370 ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को विकास से और समान अधिकारों से वंचित रखा था। इस स्थिति का लाभ आतंकवाद और अलगाववाद बढ़ाने वाली ताकतें उठा रहीं थीं
साथ ही उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि इसके प्रावधानों के निरस्तीकरण से क्षेत्र का विकास होगा एवं वहां समृद्धि आएगी तथा महिलाओं, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजातियों के खिलाफ भेदभाव को खत्म करेगा।
उन्होंने कहा, अब भारत के संविधान ने जो अधिकार बाकी भारतीयों को दिए हैं, वहीं अधिकार जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को मिल गए हैं। वहां की महिलाओं-बच्चों-दलितों के साथ हो रहा भेदभाव खत्म हो गया है।

'निर्णायक जंग' का आव्हान : उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ 'निर्णायक जंग' शुरू करने का आव्हान किया और अमेरिका तथा मुंबई के आतंकवादी हमलों का संदर्भ देते हुए कहा, आपको 9/11 और 26/11 आतंकवादी हमलों के साजिशकर्ता कहां मिलेंगे।
मोदी का इशारा पाकिस्तान की तरफ : मोदी का साफ इशारा था कि इसके गुनाहगार पाकिस्तान में बैठे हैं। मोदी ने कहा कि इन लोगों ने नफरत को ही अपनी राजनीति का केंद्र बना रखा है। ये वो लोग हैं जो आतंकवाद को पालते-पोसते हैं। इन्हें सिर्फ आप ही नहीं पूरी दुनिया इनको जानती है।

50 मिनट तक मोदी का भाषण ट्रंप ने सुना : अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने भाषण के बाद मोदी को संबोधित करने का न्योता दिया था। पहले यह लगा था कि ट्रंप अपने संबोधन ने बाद चले जाएंगे लेकिन इसके उलट ट्रंप 50 मिनट तक मोदी के आक्रामक तेवर को देखते और सुनते रहे।

मोदी ने ट्रंप का हाथ पकड़कर स्टेडियम का चक्कर लगाया : प्रधानमंत्री मोदी संबोधन खत्म करने के बाद सीधे ट्रंप के पास पहुंचे और उनका हाथ पकड़कर पूरे स्टेडियम का चक्कर लगाया। यह नजारा ठीक उसी तरह था, जैसे क्रिकेट में बहुत बड़ा टूर्नामेंट जीतने के बाद पूरी टीम स्टेडियम का चक्कर लगाकर दर्शकों का अभिवादन करती है।
ट्रंप को मोदी ने दिलाया स्टेडिंग ओवेशन : 50 हजार दर्शकों के बीच एक मौका ऐसा भी आया, जब मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को स्टेंडिंग ओवेशन दिलाया। दरअसल मोदी ने कहा कि मैं आतंकवाद के खिलाफ ट्रंप ने जो निर्णय लिया है, इसके लिए हम सब उन्हें स्टेंडिंग ओवेशन देंगे। मोदी के इस आव्हान के बाद पूरा स्टेडियम खड़ा होकर ट्रंप के लिए तालियां बजाता रहा।

मोदी ने ट्रंप को दिया भारत आने का न्योता : ट्रंप ने अपने भाषण में कहा कि मुंबई में एनबीए बास्केटबॉल के मैच होंगे। क्या मैं उन्हें देखने के लिए भारत आ सकता हूं। इस पर मोदी ने ट्रंप को सपरिवार भारत आने का न्योता दिया। उन्होंने कहा कि आप भारत आएंगे और आप हमें स्वागत करने का मौका दें। हमारी ये दोस्ती भारत और अमेरिका के संबधों को नई ऊंचाई देगी।



और भी पढ़ें :