भारतीय डॉक्टर ने जीती कानूनी लड़ाई

मेलबोर्न| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 4 जुलाई 2014 (18:29 IST)
FILE
मेलबोर्न। ऑस्ट्रेलिया में एक के साथ के मामले में दोषी करार दिए गए 38 वर्षीय चिकित्सक ने उस फैसले के खिलाफ शुक्रवार को कानूनी लड़ाई जीत ली जिसके तहत उन्हें चरित्र की बुनियाद पर यहां से बाहर करने का फैसला हुआ था।

पर्थ में रहने वाले सुहैल अहमद खान दुर्रानी को रॉयल पर्थ में 19 साल की मरीज के साथ यौन उत्पीड़न के मामले में 18 महीने जेल की सजा सुनाई गई थी। यह घटना फरवरी 2010 की है।

पिछले साल मई में प्रशासनिक अपीलीय न्यायाधीकरण ने दुर्रानी को जेल की सजा के बावजूद अपना ऑस्ट्रेलिया वीजा बरकरार रखने की इजाजत दे दी थी। पूर्व आव्रजन मंत्री टोनी बर्क ने न्यायाधीकरण के फैसले को बदल दिया।
दुर्रानी ने पूर्व मंत्री के फैसले को चुनौती दी और शुक्रवार को संघीय अदालत ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया। फैसले के बाद दुर्रानी ने कहा कि उनका पहला लक्ष्य अपनी पत्नी और 5 साल के बेटे से मिलना है।

उन्होंने कहा कि यह उनके परिवार के लिए काफी मुश्किलभरा समय रहा है, खासकर मासूम बेटे को यह समझाना काफी कठिन है कि यह सब क्या हुआ है। (भाषा)



और भी पढ़ें :