भारतीय अर्थव्यवस्था कुछ तथ्य

ND|
* फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार भारत में अरबपतियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और अरबपतियों की जनसंख्या की दृष्टि से भारत का नंबर विश्व में चौथा लगता है।

* मुंबई की गिनती विश्व में 7वें स्थान पर होती है अरबपतियों की संख्या के अनुसार।

* विश्व की दस श्रेष्ठ आउटसोर्सिंग कंपनियों में पाँच भारतीय कंपनियाँ हैं।

* मोबाइल फोन की संख्या देश में 28.3 प्रतिशत की दर से बढ़ रही है।

* बायोटेक्नोलॉजी का क्षेत्र 37 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से बढ़ रहा है।
* भारतीय एनिमेशन उद्योग वर्ष 2009 तक 95 करोड़ डॉलर के होने की संभावना है।

* भारत का गेमिंग उद्योग वर्ष 2010 तक 42.73 करोड़ डॉलर के होने की संभावना है।

* देश की 54 प्रतिशत जनता युवा है तथा इस कारण विश्व का सबसे बड़ा टीवी का बाजार है।

* देश में इंश्योरेंस सेक्टर 30 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है।
* कपास उत्पादन के मामले में भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है।

े* टाइम' पत्रिका ने वर्ष 1908 से अब तक की महत्वपूर्ण कारों की सूची में टाटा नैनो का नाम भी प्रकाशित किया है।

* प्राइस वॉटरहाउस कूपर्स की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2050 तक भारतीय अर्थव्यस्था अमेरिकन अर्थव्यवस्था की 90 प्रतिशत बराबरी कर लेगी।
* भारतीय ग्रामीण रिटेल बाजार वर्ष 2015 तक 60.29 अरब डॉलर होने की संभावना है। वही लक्जरी मार्केट के वर्ष 2015 तक 30 अरब डॉलर होने की संभावना है।
ेएशिया की टॉप 50 बैंकों की सूची में 9 भारतीय बैंकों का नाम भी है।

* वर्ष 2025 तक भारतीय उपभोक्ता वर्तमान से दस गुना ज्यादा खरीददारी करेंगे।
* ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में आए सुधार पर एक पाठ्यक्रम आरंभ किया है जिसका नाम एमएससी इन कंटेम्पररी इंडिया है। (नईदुनिया)



और भी पढ़ें :