मां दुर्गा पर कविता : मैया नवरातन में मुझ पर कृपा कीजिए

Navratri Durga Worship
 
: Navratri Par Kavita
मैया में मुझ पर कृपा कीजिए

चरणों में अपनी जगह दीजिए
मैया तेरी है महिमा बड़ी, तेरी गरिमा बड़ी
दादी, नानी ने गाई और हमने सुनी
मेरी सोई किस्मत जगा दीजिए
मैया चरणों में अपनी जगह दीजिए।

मैं कब से हूं तुम्हारे दर पर खड़ा
प्रार्थना में है मेरा मस्तक झुका
अपने हाथों को सिर पर लगा दीजिए
मेरी सोई किस्मत जगा दीजिए।

देखो नवरातन में मइया की चौकी सजी
ढोल नगाड़े बजे या कि ज्योति जल
दुष्ट दानव का फिर संहार कीजिए
चरणों में अपनी जगह दीजिए
मैया नवरातन में मुझ पर कृपा कीजिए।

मेरी सोई किस्मत जगा दीजिए
तेरी महिमा बड़ी तेरी गरिमा बड़ी
मैं चुनरिया ले तुम्हारे दुआरे खड़ी
मेरी प्रार्थना को अब स्वीकार कीजिए
मेरी सोई किस्मत जगा दीजिए।

नवरातन में मुझ पर कृपा कीजिए
मुझे चरणों में अपनी जगह दीजिए।



और भी पढ़ें :