होली गीत : फागुन का रंग...


भर-भर अंग लगाय लेहा...
 
भर-भर अंग लगाय लेहा,
फगुआ म कसर मिटाय लेहा, 
चपकाय लेहा लुकवाय लेहा।
 
हरा लाल सब साथे डाया, 
हाथ लगाय के गोदी उठाया। 
 
मन कय भसक मिटाय लेहा, 
फगुआ म कसर मिटाय लेहा।
 
पकड़-पकड़ हमका नहवाया, 
झुमरी तलइया ताल देखाया।
 
गलवा पय मुहर लगाय देहा, 
फगुआ म कसर मिटाय लेहा। 
 
कय के देखेया रौंदा रौंदी, 
आवय लागे तोहका रतौंधी। 
 
गाजा बाजा बजवाए देहा, 
फगुआ म कसर मिटाय लेहा। 
 



और भी पढ़ें :