Coronavirus Third Wave : कोरोना काल में अपने घर में ये 7 गैजेट्स जरूर रखें



कोरोना संक्रमण का खतरा अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ था कि देश में अब ने दस्तक दे दी है। देश में एक बार फिर से कोविड

और कोविड के नए वैरिएंट के मामले तेजी से फैल रहे हैं। हालात यह है कि कई लोगों में किसी प्रकार के लक्षण भी नहीं है फिर भी वे
कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। दरअसल, दूसरी लहर के दौरान कई ऐसे जरूरी हेल्‍थ गैजेट्स रहे हैं जिनकी जरूरत पड़ी है। भारत में कोरोना की इस
लहर को कोरोना की तीसरी लहर कहा जा रहा है ऐसे में वहीं गलती दोबारा नहीं हो इसलिए अपने घर पर कोरोना से जुड़े ये हेल्‍थ गैजेट्स जरूररखें। आइए जानते हैं -

1. पल्स ऑक्सीमीटर - यह एक बहुत जरूरी हेल्थ गैजेट है। अगर आपकी ब्लड में ऑक्सीजन का स्तर कम होता है, सांस लेने में परेशानी होती

है तो इसकी मदद से पता लगाया जा सकता है। यह बहुत महंगा गैजेट नहीं है हालांकि कोविड के दौरान इसकी कीमत जरूर बढ़ गई। वहीं
कोशिश करे जांच परख कर ही पल्स ऑक्सीमीटर लें। अच्‍छे पल्स ऑक्सीमीटर की रेंज 1000 रुपए से है।


2.ब्लड प्रेशर मशीन - अगर मरीज को कोर्मोबिडी की समस्या है तो यह गैजेट अपने घर पर जरूर रखें। आम इंसानों के साथ ही कोविड मरीजों को
भी बीपी की समस्या होती है। ऐसे में समय-समय पर मापने की जरूरत पड़ जाती है। अच्छे ब्लड प्रेशर मशीन की रेंज 1000 रुपए से है। इसके
लिए आप एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

3. कोविड-19 रैपिड एंटीजन टेस्ट - अगर आपको किसी प्रकार के लक्षण महसूस होते हैं तो इसकी मदद से घर पर ही तुरंत टेस्‍ट किया जासकता है। दूसरी लहर के दौरान यह किट जारी की गई थी। ताकि जिन्हें भी लक्षण लग रहे हैं वे अपना टेस्‍ट जल्‍द से जल्‍द कर सकें। शुरुआत
कीमत 450 रूपए है।


4.UV स्‍टरलाइजर - वर्तमान समय में कब कहां से बैक्टीरिया प्रवेश कर जाएं कोई नहीं जानता। बैक्टीरिया, जर्म्‍स से बचने के लिए लोग यूवी
स्‍टरलाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। हर चीजों को सैनिटाइजर से साफ नहीं किया जा सकता है ऐसे में फोन, जूते, बैग आदि को स्‍टरलाइजर कीमदद से कीटाणुओं को खत्म किया जा सकता है। इसकी कीमत साइज के अनुसार अलग-अलग है, शुरुआत कीमत 1000 रुपए है।

5.पोर्टेबल ऑक्सीजन कॉन्सेन्ट्रेटर - कोरोना की दूसरी लहर में कई लोगों को वक्त पर ऑक्सीजन सिलेंडर या ऑक्सीजन नहीं मिलने पर दम तोड़
दिया था। ऐसे में दूसरी लहर से सीख कर पहले से ही अपने घर पर ऑक्सीजन कॉन्सेन्ट्रेटर जरूर रखें।

6. डिजिटल थर्मामीटर भी जरूर रखें। ताकि घर पर आने वाले लोगों का तापमान चेक किया जा सकें। और थर्मामीटर की जगह इसका भीइस्तेमाल किया जा सकता है।

7. ग्लूकोज मीटर - जी हां, शुगर के मरीजों को थोड़ा अधिक ध्यान रखना पड़ता है क्योंकि उनकी इम्युनिटी कमजोर होती है। और जिनकी
इम्युनिटी कमजोर होती है उन पर वायरस जल्दी अटैक करता है। इसलिए शुगर के मरीज डॉक्टर की सलाह से घर पर ग्लूकोज मीटर से जांच
करते रहें।



और भी पढ़ें :