Health tips : PCOD होने पर सबसे पहले फॉलो करें ये 5 तरीके

pcod lifestyle
PCOD आज के वक्त में सबसे कॉमन बीमारी महिलाओं को होने लगी है। यह बीमारी जरूर आम हो सकती है है। लेकिन इसका प्रभाव जान ले सकता है।

जी हां, यह बीमारी महिलाएं और लड़कियां दोनों में हो रही है। इसकी वजह से थायराइड, मेंस्ट्रुएशन प्रॉब्लम, अनचाहे बाल आना, वजन बढ़ना जैसी समस्याएं घर करने लगी है। अगर इस पर कंट्रोल नहीं किया जाता है तो कैंसर जैसी गंभीर बीमारी भी आपको घेर सकती है। बेहतर होगा समय रहते सही डाइट और शरीर का ध्यान रखना शुरू कर दिया जाएं। आज इस पोस्ट में आप जानेंगे कि पीसीओडी होने पर कैसे अपने शरीर का ध्यान रखें-

1. डाइट- अपनी डाइट में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर को शामिल करें। इससे आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी। कोशिश करें हर 3 घंटे में छोटा-छोटा मील लेते रहें। आप चाहे तो डॉक्टर से चर्चा कर मल्टीविटामिन टैबलेट भी ले सकते हैं।

2. एक्सरसाइज- जी हां, बेहतर होगा पीसीओडी और पीसीओएस के बारे में पता चलने के बाद आप अपने में बदलाव कर लें। इन दोनों बीमारीयों का मुख्य कारण है आपका खराब लाइफस्टाइल। प्रॉपर डाइट के साथ आप फिजिकल एक्टिविटी पर भी वर्क करना शुरू कर दें। शुरुआत में आप छोटे-छोटे वर्कआउट कर सकते हैं। जॉगिंग, एरोबिक्स, वॉक, योगा जैसी फिजिकल एक्टिविटी आप शुरू कर सकते हैं।

3. जंक फूड- जंक फूड आपकी लाइफ को जंक कर सकते हैं। वहीं इससे उभरने के लिए आपको लंबी जंग लड़ना पड़ सकती है। अगर आपको पीसीओडी या पीसीओएस के बारे में पता चलता है तो जंक फूड खाने से बचें। जंक फूड में मैदा, चीज, ऑयल जैसी चीजें होती जो आपको मोटा बनाती है। जैसे-जैसे आपका मोटापा बढ़ता जाएगा पीसीओडी या पीसीओएस जैसी बीमारी भी बढ़ने लगेगी।

4. शुगर- इस बीमारी में जितना हो सकें मीठा कम कर दें। इससे आपके वजन पर कंट्रोल बना रहेगा। वहीं रिफाइंड शुगर हानिकारक होती है। इसकी जगह पर आप गुड़ का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

5. स्ट्रेस- पीसीओडी बीमारी अक्सर स्ट्रेस के कारण ही होती है। इसलिए बेहतर होगा अगर आप स्ट्रेस को ना कह दें और पॉजेटिव थिंकिंग के साथ कोई भी कार्य की शुरुआत करें क्योंकि पॉजिटिव सोच आपको किसी बीमारी से उभरने में जल्दी मदद करती है।



और भी पढ़ें :