Dark Chocolate: वेलेंटाइन का ऐसा गि‍फ्ट जो ‘हेल्‍थ’ का भी रखे ख्‍याल

Dark Chocolate for health
Last Updated: सोमवार, 8 फ़रवरी 2021 (15:42 IST)
वेलेंटाइन वीक चल रहा है। इस वीक में एक दिन ऐसा भी आता है जो आपकी हेल्‍थ के लिए अहम है और वो है चॉकलेट डे। इस दिन कपल्‍स और दोस्‍त एक दूसरे को उपहार में चॉकलेट देते हैं। चॉकलेट दरअसल, कई तरह से हेल्‍थ के लिए फायदेमंद है। ऐसे में अगर उपहार में आप अपने किसी प्रि‍य को डॉर्क चॉकलेट भेंट करेंगे तो यह हेल्‍थ के लिए ज्‍यादा फायदेमंद होगी।

आइए जानते हैं डॉर्क चॉकलेट के फायदे।

दिल के लिए फायदेमंद
2010 में हुए एक शोध से पता चला है कि यह ब्लड-प्रेशर को कम करता है। ऐसे में चॉकलेट के सेवन से दिल से जुड़ी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है। वहीं यूरोपीय सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी द्वारा किए गए शोध में पाया गया है कि ज्यादा मात्रा में चॉकलेट खाकर दिल से जुड़ी कई तरह की बीमारियों से सुरक्ष‍ित रहा जा सकता है।

आपका मूड हो जाएगा ठीक

ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं द्वारा 2015 में किए गए अध्ययन के अनुसार, वयस्कों के लिए चॉकलेट का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। ऐसा करने से उनमें आत्म-संतुष्ट‍ि बढ़ती है। साथ ही यह मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बहुत कारगर है।

कम कर सकती है तनाव
एक अध्ययन के अनुसार दो सप्ताह तक रोजाना डार्क चॉकलेट खाने से तनाव कम होता है। चॉकलेट खाने से तनाव बढ़ाने वाले हार्मोन नियंत्रित होते हैं। ऑस्ट्रेलियाई शोधार्थियों के अनुसार डार्क चॉकलेट खाने से हाई ब्लड प्रेशर संतुलित होता है। कोको में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स कई स्वास्थ्य समस्याओं में फायदेमंद होते हैं।

चॉकलेट को ऑक्सीडेटिव तनाव घटाने के लिए बहुत शक्तिशाली माना गया है। इसकी वजह से सूजन, चिंता और इंसुलिन प्रतिरोध जैसी समस्याएं उत्पन्न होती जाती हैं। इसलिए चॉकलेट केवल स्वाद में नहीं, स्वास्थ्य के लिहाज से भी बहुत असरदार है।

वजन घटाने में मददगार
कैलिफोर्निया के सैन डिएगो विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया है कि जो वयस्क नियमित रूप से चॉकलेट खाते हैं, उनका बॉडी मास इंडेक्स चॉकलेट न खाने वालों की तुलना में कम रहता है।

एंटी एजिंग बाइट है चॉकलेट
वैज्ञानिकों के अनुसार चॉकलेट में मौजूद कोको फ्लैवनॉल बढ़ती उम्र के लक्षणों को जल्दी नहीं आने देता है। वहीं एक अमेरिकी अध्ययन के अनुसार, रोजाना हॉट चॉकलेट के दो कप पीने से वृद्ध लोगों का मानसिक स्वास्थ अच्छा रहता है और उनकी सोचने की क्षमता भी तेज होती है।



और भी पढ़ें :