कैसे हुआ कंगारू का नामकरण, पढ़ें रोचक कहानी एवं 11 खास बातें

Kangaroo

कंगारू एक शाकाहारी जानवर है। यह जीव हैं, यह अपनी पूंछ पर वह पूरे शरीर का भार डाल सकता है। कंगारू के नामकरण के बारे में एक रोचक कहानी जुड़ी हुई है।

सन् 1773 ई. में प्रसिद्ध यात्री कैप्टन कुक का जहाज जब ऑस्ट्रेलिया में रुका था, तब कुछ खलासी एक कंगारू पकड़ लाए। उन्होंने इस विचित्र जीव को पहले कभी नहीं देखा था। इसलिए उन्होंने वहाँ के एक निवासी से इसका नाम पूछा। उसे इसका नाम मालूम नहीं था अतः उसने अपनी भाषा में जवाब दिया- 'कंगारू अर्थात मुझे मालूम नहीं।' मगर खलासियों ने समझा कि इसका नाम कंगारू है। इस तरह यह विचित्र जीव कंगारू कहा जाने लगा।
कंगारू- यह अपनी किस्म का अनोखा स्तनधारी जीव है।

यह ऑस्ट्रेलिया का प्राणी है।

मादा कंगारू के पेट में एक छोटी जेब जैसी थैली होती है।

इस थैली में वह अपने बच्चे को रखती है।

इसके सामने के पैर लंबे होते हैं।

इसकी पूँछ भी लंबी और मोटी होती है।

बैठते समय यह पूंछ के सहारे बैठता है। इससे इसका संतुलन बना रहता है।

छलांग लगाने में यह बहुत कुशल होता है।




और भी पढ़ें :