पहले मां शाकुंभरी का दरबार, फिर सहारनपुर में प्रियंका गांधी की हुंकार

हिमा अग्रवाल| Last Updated: गुरुवार, 11 फ़रवरी 2021 (08:54 IST)
सहारनपुर। कृषि कानूनों के विरोध की लड़ाई अब सड़क से लेकर संसद तक चल रही है। के विरोध में किसानों के आंदोलन को लगभग दो माह से अधिक का समय हो गया हैं। सरकार और किसानों के बीच कई राउंड बातचीत हुई पर आम राय नही बन पाई।

अब सरकार को अपनी शक्ति का परिचय कराने के लिए किसानों द्वारा अलग-अलग जगह महापंचायतों का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में प्रियंका गांधी भी किसानों के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज कराने पहुंच गई हैं। बुधवार को यूपी के सहारनपुर में में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हिस्सा लिया।

कृषि कानून विरोधी आंदोलन को अपने प्रयासों से गर्माने के लिए प्रियंका मैदान में उतर आई हैं। उन्होंने वेस्ट यूपी के किसानों में अपनी पकड़ बनाने के लिए चार सभाएं करने का फैसला लिया है, जिसके चलते आज उन्होंने सहारनपुर के चिलखना में किसान सभा को संबोधित किया।

सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि यह तीनों कृषि कानून इस तरह बनाए गए हैं कि मंडियां समाप्त हो जाएं और किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य बिलकुल भी ना मिले। कानून रद्द होने तक उनके पार्टी इनके खिलाफ संघर्ष करती रहेगी। प्रियंका आगामी 13 फरवरी को मेरठ, 16 को बिजनौर और 19 फरवरी को मथुरा की महापंचायत में शामिल होंगी।
priyanka gandhi 2" width="700" />
मां शाकुंभरी का लिया आशीर्वाद : कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने आज जय जवान जय किसान अभियान की शुरुआत सहारनपुर से की है। सहारनपुर पहुंचते ही प्रियंका सबसे पहले मां शाकुंभरी सिद्धपीठ के दर्शन करने पहुंची। मंदिर के पंडित ने मंत्रों का उच्चारण किया तो प्रियंका ने मंदिर में माथा टेककर मां का आशीर्वाद लिया। इसके बाद वे रायपुर स्थित प्रसिद्ध खानकाह पहुंचीं। इस दौरान उनके साथ यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी साथ थे।



और भी पढ़ें :