अगर सच जानना है तो सरकार और किसान के बीच वार्ता का हो लाइव प्रसारण

अवनीश कुमार| पुनः संशोधित रविवार, 28 फ़रवरी 2021 (14:01 IST)
लखनऊ। की वापसी को लेकर के खिलाफ मोर्चा खोले हुए यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर सच सामने लाना है तो किसान और सरकार के बीच की वार्तालाप का होना चाहिए, ताकि जनता भी देख सके कि कौन जवाब नहीं देना चाहता है।
सहारनपुर किसान पंचायत में सम्मिलित होने के लिए जा रहे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने शामली में रुक कर पत्रकारों से बातचीत की, इस दौरान उन्होंने कहा कि किसानों का मुद्दा पूरे देश का मुद्दा है और धरने के साथ-साथ पंचायतों का भी दौर चलेगा, जिससे किसान एकजुट होगा और 24 मार्च तक लगातार पंचायतों की तारीखें टिकी हुई है।

किसानों के बीच 16 बार सरकार के लोगों से वार्ता हुई है, लेकिन सरकार किसानों की किसी भी बात का जवाब देना नहीं चाहती, इसलिए मैं आपके माध्यम से कहना चाहता हूं कि इस बार सरकार जब किसानों से बातचीत करे तो किसान नेताओं व सरकार के बीच होने वाली बातचीत का लाइव प्रसारण टीवी पर होना चाहिए, जिससे कि लोगों को पता चल सके कि जवाब कौन नहीं देना चाहता।उन्होंने कहा कि जब तक कृषि बिल वापस नहीं हो जाता धरना ऐसे ही जारी रहेगा।



और भी पढ़ें :