गुरुवार, 18 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट विश्व कप 2023
  3. क्रिकेट विश्व कप 2023 न्यूज
  4. Australia made a remarkable bounc back after hitting the rock bottom to lift the second title
Written By
Last Modified: गुरुवार, 21 सितम्बर 2023 (16:22 IST)

विश्वकप 1999 से बाहर होने वाली ऑस्ट्रेलिया ने की गजब की वापसी, जीता दूसरी बार खिताब

विश्वकप 1999  से बाहर होने वाली ऑस्ट्रेलिया ने की गजब की वापसी, जीता दूसरी बार खिताब - Australia made a remarkable bounc back after hitting the rock bottom to lift the second title
विश्वकप 1999 कई दिलचस्प बातों के लिए याद किया जाता है। इस विश्वकप में दो ऐसी टीमें थी जो क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ गईं। विश्वकप फाइनल से ज्यादा सेमीफाइनल मैच का रोमांच आज भी क्रिकेट दर्शकों के जेहन में रेंगता है। विश्वकप सेमीफानल में लांस क्लूजरनर ने गजब की पारी खेली थी लेकिन एक करीबी मैच में दुर्भाग्य के चलते साउथ अफ्रीका ने मैच गवां दिया और ऑस्ट्रेलिया यहां से सीधे फाइनल में पहुंची।

फाइनल में ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला 1992 में चैंपियन बनी पाकिस्तान से हुआ। ऑस्ट्रलिया की गेंदबाजी के सामने पाकिस्तान के बल्लेबाज ताश के पत्तों की तरह बिखरते नजर आए। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने आसानी से मैच अपने नाम कर लिया। ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 8 विकेट से हराते हुए दूसरा विश्वकप फाइनल अपने नाम किया।

यह विश्वकप ब्रिटेन में आयोजित किया गया। 1999 के वर्ल्डकपमें वॉर्न ने फाइनल में केवल 33 रन की कीमत पर चार विकेट झटककर 'मैन ऑफ द मैच' बनने का सम्मान हासिल  किया। अफ्रीका के लांस क्लूजनर को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।इस पूरे टूर्नामेंट के दौरान वह इतनी बार नाबाद लौटे थे कि उनके आउट होने पर सट्टा लग जाता था।

फॉर्मेट

इस विश्वकप में 12 टीमों ने हिस्सा लिया जिसे 2 ग्रुप्स में बांटा गया। ग्रुप ए में भारत, दक्षिण अफ्रीका, जिम्बाब्वे, इंग्लैंड, श्रीलंका और केन्या एक ग्रुप में थे। ग्रुप बी में पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश, स्कॉटलैंड थे।

ग्रुप स्टेज में जिम्बाब्वे ने किए 2 बड़ उलटफेर

जिम्बाब्वे की टीम ने ग्रुप स्टेज में ही 2 बड़े उलटफेर किए। पहले भारत को 3 रनों से हराया और फिर अपने पड़ोसी दक्षिण अफ्रीका को 49 रनों से हराकर सुपर सिक्स में पहुंची। जिसके कारण इंग्लैंड और श्रीलंका सुपर सिक्स में नहीं जा पाई।

जिम्बाब्वे ने इन दोनों टीमो को हराया लेकिन अंकतालिका में नेट रन रेट से तीसरे स्थान पर रहा, पर सुपर सिक्स में जगह बनाने में सफल रहा। भारत इन दो टीमों से ही पहले 2 मैच हारकर मुश्किल में था लेकिन केन्या श्रीलंका और इंग्लैंड पर जीत से वह जैसे तैसे टूर्नामेंट के सुपर सिक्स में जा पहुंचा।

पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को हराया पर बांग्लादेश से हारा

वनडे विश्वकप की दावेदार मानी जा रही ऑस्ट्रेलिया को पाकिस्तान ने 10 रनों से हराकर लगभग विश्वकप से बाहर कर दिया था। लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने अपने बाकी सभी मैच जीते और सुपर सिक्स में प्रवेश किया। इस ग्रुप से तीसरी टीम आगे जानी वाली बनी न्यूजीलैंड। पाकिस्तान इन दोनों टीमों को हराकर शीर्ष पर रही। लेकिन अंत में एक उलटफेर का शिकार हुई। बांग्लादेश ने पाकिस्तान को 62 रनों से हराया।

सुपर सिक्स में भारत को मिली पाकिस्तान पर एकमात्र जीत

सुपर सिक्स में भारत बनाम पाकिस्तान का मैच हुआ, जिसे भारत ने 47 रनों से जीता। यह सुपर सिक्स में भारत की एकमात्र जीत रही और भारत इस टूर्नामेंट से बाहर हो गया। पाकिस्तान को भी जिम्बाब्वे पर इस सुपर सिक्स में एकमात्र जीत मिली लेकिन वह ग्रुप स्टेज में 4 अंक लेकर आया था तो कुल 6 से शीर्ष पर रहा।

इस स्टेज में हर टीम को दूसरे ग्रुप की तीन टीमों से 1-1 मैच खेलना था। ऑस्ट्रेलिया को सेमीफाइनल में जाने के लिए अपने सभी मैच जीतने जरूरी थे। उसने भारत, जिम्बाब्वे और अंत में दक्षिण अफ्रीका को हरा दिया।  सेमीफाइनल में जाने वाली तीसरी टीम दक्षिण अफ्रीका और चौथी टीम न्यूजीलैंड बनी।

सेमीफाइनल में हुआ दक्षिण अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया का एतिहासिक टाई मैच

सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया के मैच को आज भी याद रखा जाता है। दोनों ही टीमें 213 रनों पर ऑलआउट हो गई थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया को बेहतर रन रेट के कारण फाइनल में दाखिला मिला था। इस मैच में भी लांस क्लूजनर नाबाद गए थे।

दूसरे सेमीफाइनल में पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड पर बेहद आसान जीत दर्ज की थी। 241 के स्कोर को पाकिस्तान ने सईद अनवर के शतक की मदद से पा लिया था।

फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान पर दर्ज की बेहद आसान जीत

1999 के विश्वकप फाइनल का मुकाबला बेहद ही एकतरफा रहा था। ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के किसी बल्लेबाज को 50 रनों तक भी नहीं पहुंचने दिया था और पूरी टीम 39 ओवरों में 122 रनों पर आउट हो गई थी। इसके जवाब में विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट के तूफानी अर्धशतक से ऑस्ट्रेलिया यह मुकाबला 8 विकेट से जीतकर अपना दूसरा विश्वकप जीत गया था।
ये भी पढ़ें
विनेश फोगाट से लेकर हिमा दास, चोट और अहर्ता के कारण एशियाई खेलों में नहीं दिखेंगे यह भारतीय खिलाड़ी