टीम के साथ रहेंगे चोटिल शिखर धवन, BCCI ने नहीं की किसी विकल्प की घोषणा

पुनः संशोधित मंगलवार, 11 जून 2019 (22:51 IST)
लंदन। भारत की गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार जीत में शतक बनाने वाले बाएं हाथ के ओपनर बाएं हाथ के अंगूठे में चोट के बावजूद आईसीसी विश्‍व कप में टीम इंडिया के साथ बने रहेंगे और उनकी चोट पर निगरानी रखी जाएगी, लेकिन बीसीसीआई (BCCI) की तरफ से शिखर के लिए किसी विकल्प की कोई घोषणा नहीं की गई है।
शिखर के अंगूठे में फ्रेक्चर की खबर ने भारतीय खेमे को सकते में डाल दिया था और पूरे दिनभर शिखर की फिटनेस और उनके विश्वकप में खेलने को लेकर कयास लगते रहे।

उनके अंगूठे में फ्रेक्चर की खबर आते ही यह कहा गया था कि वे इस चोट के कारण कम से कम तीन सप्‍ताह तक क्रिकेट से दूर रहेंगे और विश्वकप से बाहर भी हो जाएंगे, लेकिन शाम तक यह बताया जा रहा था कि वे न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के खिलाफ अगले दो मैच नहीं खेल पाएंगे। मगर रात में यह खबर आई कि शिखर इंग्लैंड में भारतीय टीम के साथ बने रहेंगे और आखिरी फैसला लेने से पहले उनके अंगूठे के चोट का और आकलन किया जाएगा।
भारत को अपना अगला मैच गुरुवार को नाटिंघम में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलना है। फिलहाल इतना तय है कि शिखर इस मैच में नहीं खेलेंगे। दरअसल बीसीसीआई और भारतीय चयनकर्ता शिखर को एकदम टीम से बाहर करने का जोखिम नहीं उठाना चाहते। वे अगले एक-दो मैच तक उनकी चोट की स्थिति का आकलन करेंगे और उसके बाद जाकर ही कोई फैसला लिया जाएगा।

ICC नियम के अनुसार एक बार खिलाड़ी को बाहर किए जाने की स्थिति में उसे दोबारा टीम में शामिल नहीं किया जा सकता जब तक कोई अन्य खिलाड़ी चोटिल न हो जाए। यही वजह है कि चयनकर्ताओं ने शिखर के विकल्प के लिए कोई घोषणा नहीं की है।
शिखर को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ रविवार को खेले गए मैच के दौरान चोट लगी थी। शिखर को तेज गेंदबाज पैट कंमिंस की बाउंसर गेंद अंगूठे पर लगी थी। शिखर दर्द के बावजूद क्रीज पर डटे रहे थे और उन्होंने 109 गेंदों पर 16 चौकों की मदद से 117 रन की मैच विजयी पारी खेली थी और उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला था।

भारतीय ओपनर अंगूठे पर चोट लगने के बाद बल्ले पर अपने निचले हाथ को हटाते हुए बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन जैसे-जैसे उनकी पारी आगे बढ़ती रही वे बिना किसी परेशानी के अपने शॉट खेलते रहे, लेकिन शिखर ने ऑस्ट्रेलिया की पारी में फील्डिंग नहीं की थी और उनकी जगह रवींद्र जडेजा ने पूरे 50 ओवर फील्डिंग की थी। इस दौरान शिखर अपने अंगूठे पर आईस पैक लगाकर ड्रैसिंग रुम में बैठे रहे।
शिखर के अंगूठे का लीड्स में स्‍कैन कराया गया, जिसमें उनके अंगूठे में फ्रैक्‍चर निकला। इस बीच भारतीय टीम के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट और खुद शिखर ने कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री, बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ और गेंदबाजी कोच भरत अरुण को स्थिति से अवगत कराया जिसके बाद उन्हें टीम में बनाए रहने का फैसला लिया गया।

बीसीसीआई के सामने शिखर के महत्व को देखते हुए फिलहाल उनका विकल्प घोषित करने की स्थिति नहीं है। भारतीय चयनकर्ता शिखर की चोट को लेकर इंतजार करने की नीति अपनाना चाहते हैं। आईसीसी का नियम कहता है कि यदि विकल्प की घोषणा कर दी जाती है तो शिखर टीम में तभी लौट सकते हैं जब कोई अन्य खिलाड़ी चोटिल हो और टूर्नामेंट की तकनीकी समिति विकल्प से संतुष्ट हो।
शिखर के फिलहाल अगले मैच से बाहर हो जाने से लोकेश राहुल ओपनिंग की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। राहुल के ओपनिंग पर आने पर दिनेश कार्तिक या विजय शंकर को चौथे नंबर पर मौका दिया जा सकता है।

भारतीय चयनकर्ताओं ने 15 सदस्यीय टीम के बाहर वैकल्पिक खिलाड़ियों में अंबाटी रायुडू, ऋषभ पंत, अक्षर पटेल, इशांत शर्मा और नवदीप सैनी को रखा है, लेकिन विकल्प का कोई भी फैसला कुछ समय बाद ही जाकर लिया जाएगा।

 

और भी पढ़ें :