तारेक फतेह के ‘कोरोना स्‍वागत’ पर भड़क गए जावेद, तो यूजर्स ने द‍िए जवाब

tabligi jamat
ट्व‍िटर पर तारिक फतेह के एक ट‍िकटॉक वीडि‍यो शेयर करने के बाद गीतकार और तारेक फतेह आमने-सामने आ गए। जो वीडियो ट्विटर पर शेयर किया गया है, उसमें तीन मुस्लिम युवक इंड‍िया में कोरोना का वेलकम करते सुनाई देर रहे हैं।
इस वीडियो को शेयर करते हुए तारिक ने चुटकी ली है। तारिक ने लिखा कि ‘भारतीय मुस्लिम युवक इंडिया में कोरोना वायरस का वेलकम कर रहे हैं।’
तारेक के इस कैप्‍शन पर जावेद अख्तर भड़क गए। उन्‍होंने फतेह को जवाब देते हुए लि‍खा- यह अपमान है जो बर्दाश्त करने लायक नहीं है।

दरअसल, इस टिकटॉक वीडियो में तीन मुस्लिम युवक कहते हैं क‍ि ‘वेलकम टू इंडिया करोना, हमसे नागरिकता का सबूत मांगने वालों मेरे रब की एनआरसी लागू हो गई है। अब वही फैसला करेगा कि कौन रहेगा और कौन जाएगा’
tabligi jamat

इस पर तारेक फतेह ने लिखा था क‍ि देख लो भारतीय मुस्लिम युवक भारत में कोरोना का स्वागत कर रहे हैं। उनके मुताबिक अल्लाह उन्हें प्रोटेक्ट कर रहा है। औऱ नॉन मुस्लिम्स का खात्मा कर रहा है।

ज‍िसके जवाब में उन्‍होंने कहा क‍ि ‘तारिक साहब संसार में हर कम्यूनिटी में लोगों में पागलपन है। लेक‍िक आप कुछ लोगों की वजह से पूरे समुदाय पर आरोप नहीं लगा सकते। जब आप ऐसे लोगों की आलोचना करते हैं तो मैं आपके साथ हूं, लेकिन आपका इन्‍हें इंडियन मुस्लिम कहना सही नहीं है। यह बर्दाश्त करने लायक नहीं है, यह अपमानजनक है।
दोनों के आमने सामने आने के बाद लोगों ने भी तारेक फतेह का साथ दि‍या। एक यूजर ने कहा क‍ि सब मुसलमान ऐसे नही होते! कुछ जैसे कि जिसने इंदौर में मेडिकल टीम पर हमला क‍िया। जिसने गुजरात में पुलिस पर पत्थर मारे। जो दिल्ली में डॉक्‍टरों पर थूक रहे हैं। कोरोना के मरीज और यह सब देखकर भी चुप रहेने वाले और उनका सपोर्ट करने वालों की दुर्भाग्‍य से तादाद ज्यादा है।
एक यूजर ने जवाब देते हुए कहा क‍ि जब हमने कनि‍का कपूर को कोसा। और उस पर एफआईआर हो गई। जब हमने तब्लीगी जमात को कोसा तो हिन्दू मुसलमान कैसे हो गया।
एक यूजर ने कहा क‍ि जावेद साब के भीतर का मुसलमान फ‍िर से जाग गया, जैसे उनके पूर्वज 1946 में आजाद मुल्क पाकिस्तान के लिए लड़े थे।



और भी पढ़ें :