दिल्ली में सैलून को खोलने की अनुमति, स्पा रहेंगे बंद

Last Updated: सोमवार, 1 जून 2020 (14:52 IST)
नई दिल्ली। मुख्यमंत्री ने सोमवार को कहा कि नाई की दुकानों, सैलून को खोलने की अनुमति है लेकिन स्पा फिलहाल बंद रहेंगे। से निपटने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण पिछले 2 महीने से अधिक समय से ये दुकानें बंद थीं।
ALSO READ:
कोरोना काल: आर्थिक परेशानियों में घिरी दिल्ली सरकार, वेतन के लिए केंद्र से मांगे 5000 करोड़
केजरीवाल ने ऑनलाइन एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चार-पहिया, दोपहिया वाहनों, ऑटो-रिक्शा, ई-रिक्शा और अन्य वाहनों में सवार होने वाले लोगों की संख्या को लेकर भी अब कोई प्रतिबंध नहीं है। ये रियायतें ऐसे समय में दी गई हैं, जब देश लॉकडाउन से चरणबद्ध तरीके से बाहर निकलने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
उन्होंने कहा कि अब तक बाजारों में दुकानों को सम-विषम योजना के आधार पर खोलने की अनुमति दी जा रही थी लेकिन केंद्र के नए दिशा-निर्देशों में इस तरह के प्रतिबंधों का उल्लेख नहीं किया गया है। केजरीवाल ने कहा कि अब सभी दुकानों को खोलने की अनुमति है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में उद्योगों के कामकाज पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।
सीमाएं खोलने पर जनता से मांगे सुझाव : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी की सीमाएं फिलहाल एक सप्ताह तक बंद रहेंगी और साथ ही उन्होंने इनको खोलने के लिए सुझाव भी मांगे। केजरीवाल ने कहा कि आवश्यक सेवाओं में काम कर रहे लोग जिनके पास पास होगा, उन्हें आने-जाने की अनुमति दी जाएगी।
उन्होंने कहा कि दिल्लीवासी उत्तरप्रदेश और हरियाणा से लगी सीमाओं को खोलने के लिए 8800007722 व्हाट्सएप नंबर पर सुझाव भेज सकते हैं और 1031 पर फोन कर सकते हैं। इस संबंध में सुझाव भेजने के लिए एक वेबसाइट भी जारी की गई है।

उत्तरप्रदेश में गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन ने रविवार को कहा था कि राष्ट्रीय राजधानी से लोगों के आने-जाने के लिए नोएडा-दिल्ली की सीमा सील रहेगी। प्रशासन ने कहा था कि पिछले 20 दिनों में कोविड-19 के जितने मामले मिले हैं, उन मामलों में से 42 प्रतिशत में संक्रमण का स्रोत दिल्ली को पाया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग कहेंगे कि अगर दूसरे राज्यों के लोगों को शहर में प्रवेश करने की अनुमति दी जाती है, तो वे कोविड-19 संकट के मद्देनजर बड़ी संख्या में स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ उठाएंगे और इससे दिल्लीवासी उनका उपयोग नहीं कर पाएंगे।

केजरीवाल ने आश्वासन दिया कि शहर में कोविड-19 के लिए इलाज के लिए अस्पतालों में बिस्तरों की कमी नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार केंद्र द्वारा दी गई सभी रियायतों देगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :