MP:कोरोना महामारी से अब तक 1 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई : जीतू पटवारी

Last Updated: मंगलवार, 4 मई 2021 (21:51 IST)
भोपाल। भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मंगलवार को दावा किया कि राज्य में कोरोना महामारी से अब तक एक लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। पटवारी ने यहां वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संवाददाताओं को बताया कि हर दिन सरकार के अधिकृत प्रवक्ता एवं मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा विपक्ष पर आरोप लगाते दिख जाएंगे, लेकिन वह इस महामारी के दौर में आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति कर सरकार के पाप को छुपा नहीं सकते।’’
उन्होंने दावा किया, ‘‘एक मोटे अनुमान के अनुसार मध्य प्रदेश के प्रत्येक जिले में अब तक 3,000 से अधिक मौतें हो चुकी है। ऑक्सीजन की कमी, दवाई एवं रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी, अस्पतालों की अव्यवस्था और पैरामेडिकल स्टफ और डॉक्टरों की कमी के चलते असमय हजारों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।’’ पटवारी ने दावा किया, ‘‘जिला स्तर पर मौत के इन आंकड़ों की भयावह स्थिति की तुलना करें तो पूरे प्रदेश में एक लाख से ज्यादा मौतें कोरोना महामारी से हो चुकी हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार की नाक के नीचे यानी राजधानी भोपाल में सामने आया है कि अप्रैल में 2500 से ज्यादा लोगों का कोविड की वजह से अंतिम संस्कार किया गया, जबकि सरकार का आधिकारिक आंकड़ा सिर्फ 109 ही है।

पूर्व मंत्री ने कहा कि भोपाल में कोरोना से मृत्यु का सही आंकड़ा पता करने के लिए कई मीडिया संस्थानों ने शहर के तीन श्मशान गृहों और एक कब्रिस्तान के रिकॉर्ड खंगाले। उन्होंने दावा किया कि इससे पता चला है कि पिछले महीने 2,567 शव कोविड प्रोटोकॉल के तहत या तो जलाए गए या फिर दफनाए गए। वहीं, चार जगहों पर 1273 लोगों का अंतिम संस्कार गैर-कोविड प्रोटोकॉल के तहत किया गया।
स्वास्थ्य मंत्री को ढूंढकर लाने पर 11 हजार का इनाम : पटवारी ने मंगलवार को घोषणा की कि कोरोना महामारी के भयावह स्थिति के बीच गायब प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी को ढूढ़कर लाने वाले को 11,000 रुपए का इनाम दिया जाएगा।
पटवारी ने यहां वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संवाददाताओं को बताया कि में सारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो चुकी हैं, लेकिन प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी का अता-पता नहीं है और जनता उन्हें ढूंढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री को ढूंढकर लाने वाले को मैं 11,000 रुपए का इनाम दूंगा। पटवारी ने कहा कि शिवराजसिंह चौहान की सरकार झूठ पर झूठ बोले जा रही है। उन्होंने कहा कि पिछले दो माह से कोरोना संक्रमण के कारण स्थिति भयावह हो गई है और प्रदेश में कोई ऐसा अस्पताल नहीं है जहां हर सुविधा उपलब्ध हो।
पटवारी ने आरोप लगाया कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति को लेकर सरकार बड़े- बड़े दावे कर रही है, लेकिन यह न तो मरीज को मिल रही है और न ही अस्पताल को और यह भाजपा नेताओं और विधायकों के घर जा रही है। वहीं, प्रदेश भाजपा ने पटवारी के इन आरोपों को गलत बताया है।

मध्य प्रदेश भाजपा सचिव एवं प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बताया कि कांग्रेस का बयान राजनीतिक जुमलेबाजी है। मंत्री एवं उनका पूरा स्वास्थ्य विभाग संकट की इस घड़ी में पूरे जी जान से काम कर रहा है। यदि पटवारी उनसे मिलना चाहते हैं, तो उन्हें सीधे मंत्री को फोन करना चाहिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :