भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद ब्राजील का covaxin के लिए भारत बायोटेक के साथ करार निलंबित

Covaxin
Last Updated: बुधवार, 30 जून 2021 (12:36 IST)
हैदराबाद। भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके की 2 करोड़ खुराकें खरीदने पर सहमत हुई की सरकार ने समझौते में अनियमितताओं के आरोप लगने के बाद को करने की बुधवार को घोषणा की। ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री मार्सेलो क्विरोगा ने ट्वीट किया कि सीजीयूऑनलाइन की अनुशंसा पर हमने कोवैक्सिन करार को अस्थायी रूप से निलंबित करने का फैसला किया है।
ALSO READ:
अमेरिका ने माना, Corona के अल्फा-डेल्टा वेरिएंट्स का खात्मा करती है भारत की Covaxin

उन्होंने कहा कि सीजीयू के प्रारंभिक विश्लेषण के मुताबिक करार में कोई अनियमितता नहीं हैं लेकिन अनुपालन के कारण मंत्रालय ने और विश्लेषण के लिए करार को रोकने का फैसला किया है। ब्राजील के साथ कोवैक्सिन करार उस वक्त विवादों में घिर गया, जब दक्षिण अमेरिकी देशों के अटॉर्नी जनरल ने सौदे में जांच शुरू कर दी।

ALSO READ:Covishield-: पहला डोज कोविशील्ड का, दूसरा कोवैक्सीन का,भूल कर भी न करें ऐसी गलती

क्विरोगा ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि यह गौर करने लायक है कि ब्राजील सरकार ने कोवैक्सिन टीके के लिए एक पाई का भी भुगतान नहीं किया था। उन्होंने कहा कि यह कदम ब्राजील में कोविड 19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान की गति के साथ समझौता नहीं करेगा, चूंकि टीकाकरण एजेंट के आपातकालीन या निश्चित उपयोग के लिए अन्विसा (ब्राजील की राष्ट्रीय स्वास्थ्य नियामक एजेंसी) से कोई मंजूरी नहीं मिली है, हालांकि भारतीय दवा निर्माता (भारत बायोटेक) से तत्काल इस पर कोई टिप्पणी नहीं मिल पाई है।(भाषा)



और भी पढ़ें :