देशभर में ब्लैक फंगस के 27 हजार 142 उपचाराधीन मरीज

पुनः संशोधित शुक्रवार, 18 जून 2021 (20:01 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने शुक्रवार को कहा कि देश में म्यूकरमाइकोसिस या के 27,142 उपचाराधीन मरीज हैं और इस संख्या में बढ़ोतरी होती रही तो देश बीमारी के उपचार में इस्तेमाल होने वाली एंफोटेरिसिन-बी और अन्य दवाओं की उपलब्धता बढ़ाने को तैयार है।
मंडाविया ने एक ट्वीट में कहा, 16 जून को म्यूकरमाइकोसिस के 27,142 उपचाराधीन मरीज थे। भविष्य में ब्लैक फंगस के मामले बढ़ने पर भी भारत मरीजों के उपचार के लिए एंफोटेरिसिन-बी और अन्य दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखने के लिए तैयार है।

रसायन और उर्वरक राज्यमंत्री मंडाविया ने उल्लेख किया कि एंफोटेरिसिन-बी के उत्पादन में पहले ही पांच गुना बढ़ोतरी हो चुका है। उन्होंने कहा, देश में अप्रैल में लाइपोजोमल एंफोटेरिसिन-बी की महज 62,000 शीशियों का उत्पादन हो रहा था, जबकि जून में 3.75 लाख शीशियों का आंकड़ा पार कर जाने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि देश में ब्लैक फंगस के किसी भी मरीज को इंजेक्शन मिलने में कोई दिक्कत नहीं हो, इसलिए सरकार 9.05 लाख लाइपोजोमल एंफोटेरिसिन-बी इंजेक्शन का आयात भी कर रही है।

उन्होंने कहा कि औषधि विभाग ने 17 जून 2021 तक सभी राज्यों और केंद्रीय संस्थानों को लाइपोजोमल एंफोटेरिसिन-बी की 7,28,045 शीशियां आवंटित की हैं। म्यूकरमाइकोसिस के उपचार में एंफोटेरिसिन-बी का इस्तेमाल होता है।(भाषा)



और भी पढ़ें :