0

बेताल रिव्यू: बेतुकी और बचकानी

सोमवार,मई 25, 2020
0
1
पाताल लोक सीरिज एक बार फिर हमारा सामना उस भयावह सिस्टम से कराती है जिसे हम सड़ा-गला मानते हैं, जबकि वो सिस्टम ओवर-आइलिंग किया हुआ बढ़िया तंत्र है जिसका पुर्जा-पुर्जा जानता है कि उसे क्या करना है और जो पुर्जा काम का नहीं होता, फौरन बदल दिया जाता है।
1
2
कई बार कहानी से ज्यादा दिलचस्प किरदार होते हैं और यही खासयित है हॉटस्टार पर उपलब्ध वेबसीरिज़ 'हंड्रेड' की। दो महिलाएं लीड रोल में हैं। एक पुलिस ऑफिसर है सौम्या (लारा दत्ता) जिसे डिपार्टमेंट ने शो-पीस बना कर रखा है। वह चाहती है कि बदमाशों का पीछा ...
2
3
नेटफ्लिक्स की फिल्म 'मिसेज सीरियल किलर' के निर्देशक के रूप में शिरीष कुंदर का नाम देख कर ही फिल्म को लेकर मन में शंकाएं उत्पन्न होने लगती हैं क्योंकि शिरीष ने इसके पहले कुछ खराब फिल्में बनाई हैं। शिरीष ने जो 'नाम' बनाया है उस पर वे खरे उतरते हैं। ...
3
4
नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीमिंग होने वाली मूवी एक्सट्रैक्शन का निर्देशन सेम हारग्रेव ने किया है जो एवेंजर्स एंडगेम और कैप्टन अमेरिका: सिविल वॉर जैसी फिल्मों से बतौर स्टंट कॉर्डिनेटर जुड़े रहे हैं और उनके स्टंट्स कितने बेहतरीन होते हैं यह बात सभी जानते हैं। ...
4
4
5
बात को लंबा खींचा जाऐ तो वो भले ही कितनी अच्छी हो अपना असर खो बैठती है। फिल्म बनाने के यह बेसिक नियमों में से एक है, लेकिन हंसमुख नामक वेबसीरिज में इसका पालन नहीं किया गया। जो बात तीन एपिसोड के लायक थी उस पर दस एपिसोड बना डाले। इस सीरिज का मूल ...
5
6
नीरज ने अब वेबसीरिज में हाथ आजमाया है और 'स्पेशल ऑप्स' नामक उनकी वेबसीरिज हॉट-स्टार पर दिखाई जा रही है। इसमें एक ऑपरेशन दिखाया है जो 19 साल लंबा है और कई देशों में फैला हुआ है। इस ऑपरेशन में वो तमाम उतार-चढ़ाव और थ्रिल मौजूद हैं जो इस विषय की ...
6
7
हिंदी मीडियम में दिखाया गया था कि किस तरह अंग्रेजी मीडियम और महंगे स्कूलों में एडमिशन पाने के लिए पैरेंट्स जतन करते हैं। अंग्रेजी मीडियम में छात्रों के विदेश में पढ़ने के मोह को दर्शाया गया है। यह बात निर्देशक होमी अडजानिया ने कॉमेडी के साथ ...
7
8
बागी सीरिज की सफलता से इसके निर्माता इतने उत्साहित हो गए कि 4 साल में सीरिज की तीसरी फिल्म आ गई। लोकप्रियता का फायदा उठाने के चक्कर में बागी 3 जल्दबाजी का शिकार नजर आती है। यह कुछ ऐसा ही है कि बाजार में मांग को देखते हुए फल को पेड़ पर पकने के पहले ...
8
8
9
एक थप्पड़। बस इतनी सी बात। क्या इस पर कोई तलाक ले सकता है? क्या इसे भूल कर आगे नहीं बढ़ जाना चाहिए? लेकिन बात है थप्पड़ के पीछे छिपी मानसिकता की। एक थप्पड़ से शारीरिक चोट बहुत छोटी हो सकती है, लेकिन आत्मा पर लगी चोट बहुत गहरी होती है। अमृता ...
9
10
गे रिलेशनशिप को लेकर ज्यादातर हिंदी फिल्मों का रवैया मजाक उड़ाने वाला रहा है। गे किरदार स्टीरियोटाइप कर दिए गए। जब से इस रिश्ते को भारत में मान्यता मिली है, फिल्मकारों का रूख भी अब बदला है। 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' सेम सेक्स-मैरिज की थीम पर ...
10
11
भूत नाम से रामगोपाल वर्मा ने एक बेहतरीन फिल्म बनाई थी और अब इसी नाम से करण जौहर ने ‍हॉरर प्लस थ्रिलर फिल्म प्रोड्यूस की है। ज्यादातर हॉरर फिल्मों में शुरुआती माहौल तो अच्छा बनाया जाता है। दर्शकों में उत्सुकता पैदा की जाती है। उन्हें डराया जाता ...
11
12
इम्तियाज़ अली को हमेशा रोमांटिक फिल्में बनाना पसंद रहा है और लव आज कल लेकर फिर वे हाजिर हैं। इसी नाम की उन्होंने पहले भी फिल्म बनाई थी जिसमें समय के दो अलग-अलग दौर में होने वाले प्यार और तरीके को लेकर उन्होंने तुलना की थी। इसी तरह की दो कहनियां और ...
12
13
शिकारा के रिलीज होने के पहले जिस तरह की बातें और प्रचार किया गया था उससे यह आभास हुआ कि 30 साल पहले 4 लाख कश्मीरी पंडितों को जिस हालात में कश्मीर छोड़ना पड़ा उस मुद्दे पर यह फिल्म बात करेगी, लेकिन फिल्म देखने के बाद मामला कुछ और ही निकला। ...
13
14
'कहानी कमजोर और स्टाइल पर जोर' वाली बात का शिकार बॉलीवुड की कई फिल्में रह चुकी हैं और इस लिस्ट में ताजा नाम 'मलंग' का है। फिल्म की कहानी औसत है। आप जितना यकीन करेंगे उतनी ही अच्छी लगेगी। फिल्म देखते समय कई सवाल भी उठेंगे, जिनमें से कुछ का जवाब ...
14
15
ज्यादातर स्त्रियों के सपने शादी और मां बनने के बाद चकचनाचूर हो जाते हैं। शादी के बाद उनकी दुनिया पति, बच्चे और गृहस्थी के इर्दगिर्द ही घूमती है और वे सबसे ज्यादा खुद की उपेक्षा करती हैं। 'पंगा' फिल्म दर्शाती है कि अपना सपना पूरा करने का ...
15
16
स्ट्रीट डांसर 3डी भी ऐसी फिल्म है जिसकी कहानी डांस के इर्दगिर्द घूमती है, लेकिन ये रेमो की एक और कमजोर फिल्म है। यानी रेमो वो काम भी ठीक से नहीं कर पाए जिसमें वे पारंगत हैं। कहानी को इस बार इंग्लैंड ले जाया गया है। सहज (वरुण धवन) स्ट्रीट डांसर्स ...
16
17
कुछ विषय ऐसे होते हैं जिन पर विचार करना होता है कि फीचर फिल्म बनाई जाए या डॉक्यूमेंट्री? एसिड अटैक सर्वाइवर पर फिल्म बनाना ऐसी ही कठिन चुनौती है। निर्देशक मेघना गुलजार ने इसके पहले वास्तविक घटना पर आधारित बेहतरीन फिल्म 'तलवार' बनाई थी। 'छपाक' ...
17
18
भारत के लिए जान न्यौछावर करने वाले अनेक योद्धा हुए हैं। कुछ को खूब मान-सम्मान मिला, लेकिन कुछ अंधेरों में गुम हो गए जबकि उनका योगदान किसी से कम नहीं था। ऐसे ही एक नायाब योद्धा 17 वीं शताब्दी तान्हाजी मालुसरे नाम से हुए थे, जिन पर अजय देवगन ने ...
18
19
मेगास्टार बन कर रजनीकांत एक खास छवि में भी कैद हो गए हैं और समय-समय पर अपने फैंस को खुश करने के लिए उन्हें उन्हीं अदाओं को दोहराना पड़ता है जिसे देख सिनेमा हॉल में सीटियां और तालियां बजती हैं। उनकी ताजा फिल्म 'दरबार' प्रशंसकों के लिए बनाई गई है ...
19