शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023
  1. मनोरंजन
  2. बॉलीवुड
  3. बॉलीवुड न्यूज़
  4. ss rajamouli refused to direct salman khan film bajrangi bhaijaan
Written By
पुनः संशोधित शनिवार, 24 जुलाई 2021 (17:01 IST)

सलमान खान की फिल्म को निर्देशित करने से राजामौली ने कर दिया था इंकार!

बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान की फिल्म 'बजरंगी भाईजान' को हाल ही में 6 साल पूरे हुए है। इस फिल्म में सलमान खान के साथ करीना कपूर, हर्षाली मल्होत्रा और नवाजुद्दीन सिद्दीकी मुख्य भूमिका में नजर आए थे। इस फिल्म में एसएस राजामौली के पिता केवी विजेंयद्र प्रसाद ने लिखा था।

 
इस फिल्म का निर्देशन कबीर खान ने किया था। लेकिन क्या आप जानते हैं इस फिल्म का निर्देशन पहले एसएस राजामौली करने वाले थे। 
 
खबरों के अनुसार केवी विजयेंद्र प्रसाद चाहते थे कि इस फिल्म का निर्देशन एसएस राजामौली करें लेकिन वह उस वक्त बाहुबली की शूटिंग कर रहे थे। जिस वजह से एसएस राजामौली ने इस फिल्म का निर्देशन करने से मना कर दिया था। जिसके बाद विजयेंद्र प्रसाद ने इस फिल्म के निर्देशन के लिए कबीर खान से बात की।
 
खबरों के अनुसार विजयेंद्र प्रसाद ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि मैंने अपनी कहानी सुनाने का बहुत ही गलत समय चुना था। मैंने अपनी फिल्म की कहानी तो सुनाई थी लेकिन उस दौरान एसएस राजामौली अपनी फिल्म का युद्ध का सीक्वेंस शूट कर रहे थे। जिस वजह से बात बन नहीं पाई थी।
 
बता दें कि हाल ही में बजरंगी भाईजान के सीक्वल को लेकर भी खबर सामने आई है। एक इंटरव्यू के दौरान केवी विजेंयद्र प्रासद ने बजरंगी भाईजान के सीक्वल की ओर इशारा दिया है। उन्होंने कहा कि वह 'बजरंगी भाईजान 2' की प्लानिंग कर रहे हैं। फिलहाल फिल्म की कहानी पर काम चल रहा है।
 
विजेंयद्र प्रसाद ने कहा कि जब मैंने यह आइडिया सलमान के साथ शेयर किया तो वह काफी एक्साइटेड दिखें। फिलहाल मैं इस कहानी को आगे ले जाने के लिए शानदार शुरुआत करना चाहता हूं। कुछ दिन पहले जब मैं सलमान खान से कैजुएली मिला था। तब मैंने उन्हें 'बजरंगी भाईजान 2' सीक्वल के बारे में बताया था। जिसे सुनने के बाद सलमान खान ने भी कहा था कि हां यह अच्छा आइडिया है।
 
गौरतलब है कि 'बजरंगी भाईजान' ने रिकॉर्ड तोड़ बिजनेस किया था। फिल्म ने 300 करोड़ रुपए का बिजनेस किया था। फिल्म की सफलता के बाद सलमान के करियर ग्राफ में अच्छा खासा उछाल देखने को मिला था।
 
ये भी पढ़ें
विवाह की कल्पना कैसे सूझी : कमाल का चुटकुला है