दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड मिलने पर रजनीकांत ने जताई खुशी, चाहने वालों को समर्पित किया अवॉर्ड

पुनः संशोधित गुरुवार, 1 अप्रैल 2021 (16:13 IST)
साउथ सुपरस्टार को 51वें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इस सम्मान को भारतीय फिल्म जगत का सर्वोच्च सम्मान माना जाता है। वहीं पुरस्कार के ऐलान के बाद खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर रजनीकांत को बधाई दी। साथ ही फिल्म जगत में उनके योगदान का सराहा।
अब रजनीकांत ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। रजनीकांत ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रकाश जावड़ेकर और ज्यूरी को मेरा धन्यवाद, जो उन्होंने मेरा नाम के लिए चुना। मैं इस अवॉर्ड को उन लोगों को समर्पित करता हूं, जो मेरे इस सफर में साथ रहे। सभी को दिल से धन्यवाद।

बता दें कि केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को ऐलान किया कि रजनीकांत को साल 2019 के दादा साहेब अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। रजनीकांत बीते 5 दशक से सिनेमा पर राज कर रहे हैं। इस साल ये सिलेक्शन ज्यूरी ने किया है।
प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- 'आज इस साल का दादा साहब फाल्के अवॉर्ड महान नायक रजनीकांत को घोषित करते हुए हमें बहुत खुशी है। इस ज्यूरी में आशा भोंसले, मोहनलाल, विश्वजीत चटर्जी, शंकर महादेवन और सुभाष घई जैसे कलाकार शामिल रहे हैं।

बता दें कि रजनीकांत का फिल्मी सफर मुश्किलों से भरा रहा। बचपन में उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा। रजनीकांत की असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ था। रजनीकांत फिल्मों में आने से पहले बस कंडक्टर की नौकरी करते थे। रजनीकांत ने तमिल फिल्म इंडस्ट्री में बालचंद्र की फिल्म 'अपूर्वा रागनगाल' से एंट्री ली थी।



और भी पढ़ें :