क्या है जावेद अख्तर का आरएसएस को लेकर बयान, जिस पर मचा है बवाल

पुनः संशोधित सोमवार, 6 सितम्बर 2021 (16:50 IST)
बॉलीवुड के फेमस गीतकार, स्क्रिप्ट राइटर अक्सर अपने बयानों की वजह से विवादों में घिर जाते हैं। बीते दिनों जावेद अख्तर ने एक इंटरव्यू के दौरान के साथ आरएसएस, वीएचपी और बजरंग दल की तुलना कर दी थी। इसके बाद से उन्हें काफी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

एक इंटरव्यू के दौरान जावेद अख्तर ने कहा था कि का समर्थन करने वालों की मानसिकता भी तालिबानियों जैसी ही है। आरएसएस का समर्थन करने वालों को आत्म परीक्षण करना चाहिए। आप जिनका समर्थन कर रहे हैं, उनमें और तालिबान में क्या अंतर है? उनकी जमीन मजबूत हो रही है और वे अपने टारगेट की तरफ बढ़ रहे हैं।
जावेद अख्तर के इस बयान के बाद से ही जमकर बवाल मचा हुआ है। बीते दिनों बीजेपी ने गीतकार के घर के बाहर प्रदर्शन भी किया था। कई बीजेपी नेताओं ने जावेद अख्तर को मांफी मांगने के लिए कहा था।

शिवसेना ने भी अपने मुखपत्र सामना में जावेद अख्तर के इस बयान की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा‍ कि आएसएस अगर तालिबानी विचारों वाला होता तो तीन तलाक के खिलाफ कानून न बना होता। लाखों मुस्लिम महिलाओं को आजादी नहीं मिलती। देश में बहुसंख्यक हिंदुओं की आवाज को दबाया न जाए। हमारे देश को हिंदू राष्ट्र बनाने का प्रयास करने वाले जो संगठन हैं, उनकी हिंदू राष्ट्र निर्माण की अवधारणा सौम्य है। संघ की तालिबान से तुलना हमें अस्वीकार्य है।

ये पहली बार नहीं है जब जावेद अख्तर के किसी बयान ने हंगामा खड़ा किया हो, इससे पहले भी वो कई विवादित बयान दे चुके हैं।





और भी पढ़ें :