हेरी फेरी के 20 साल : प्रियदर्शन ने बताया, कैसे एक्शन फिल्म बनाते-बनाते एक कल्ट कॉमेडी बना डाली

Last Updated: मंगलवार, 31 मार्च 2020 (17:55 IST)
की साल 2000 में आई कॉमेडी फिल्म 'हेरा फेरी' उन चुनिंदा बॉलीवुड फिल्मों में शुमार है, जिसे आप बिना बोर हुए कितनी ही बार देख सकते हैं। आप इसे जितनी बार भी देखेंगे, यह मजेदार ही लगती है। फिल्म में अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी और ने लीड रोल निभाया था। फिल्म के किरदार राजू, श्याम और बाबू भाई आज भी लोगों को याद हैं। आज इस फिल्म को 20 साल हो गए हैं। इस मौके पर प्रियदर्शन ने फिल्म के बारे में कुछ बातें साझा की।
नेशनल अवॉर्ड विजेता फिल्ममेकर को फिरोज नाडियाडवाला ने एक एक्शन फिल्म 'रफ्तार' बनाने के लिए चुना था। इस फिल्म में अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी और परेश रावल मुख्य भूमिकाओं में नजर आने वाले थे। उस दौर में अक्षय और सुनील एक्शन स्टार थे, वहीं परेश रावल नकारात्मक रोल किया करते थे।

हालांकि, प्रियदर्शन एक्शन फिल्म बनाने को लेकर आश्वस्त नहीं थे, इसलिए उन्होंने सिद्दीकी और लाल की मलयालम फिल्म 'रामजी राव स्पीकिंग' की रीमेक 'हेरा फेरी' बनाने का फैसला किया और फिल्म ने तीनों कलाकारों की तकदीर बदल दी।
प्रियदर्शन ने कहा "मुझे पूरा विश्वास था कि यह फिल्म सफल होगी। मैं सुनील शेट्टी की सराहना करता हूं, जिनको विश्वास था कि यह फिल्म कल्ट साबित होगी। ऐसा नहीं है कि और परेश रावल को फिल्म पर विश्वास नहीं था, लेकिन वह (सुनील) ज्यादा कॉन्फिडेंट थे। अगले 10 साल या उससे अधिक समय के बाद भी आप इस फिल्म को जरूर पसंद करेंगे क्योंकि ह्यूमर कभी मर नहीं सकता।"
प्रियदर्शन खुद हृषिकेश मुखर्जी और बसु चटर्जी के फिल्मों के फैन हैं। उन्होंने कहा कि 'हेरा फेरी' की सफलता ने उन्हें हिंदी में अधिक हल्की-फुल्की फिल्में बनाने के लिए प्रेरित किया।

'हेरा फेरी' के अलावा प्रियदर्शन ने 'हंगामा', 'भूल भुलैया', 'हलचल', 'भागम भाग' और 'मालामाल वीकली' जैसी कई हिन्दी फिल्में बनाई हैं।


और भी पढ़ें :