0

अमरीश पुरी : नहीं हुआ कोई दूसरा मोगांबो

मंगलवार,जून 22, 2021
0
1
ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म 'मिली' में भी अमिताभ एंग्री यंग मैन के रूप में दिखाई देते हैं, लेकिन यहां पर उनका किरदार उपरोक्त फिल्मों से अलग नजर आता है। वे रियल लाइफ के किरदार में हैं, लेकिन समाज से गुस्सा है। इसका एक कारण है। लोग उनके माता-पिता को ...
1
2
बंगाली फिल्म एक्ट्रेस और राजनेता नुसरत जहां इन दिनों इसलिए चर्चा में है कि उन्होंने निखिल जैन से अपनी शादी को गैरकानूनी और अवैध बताते हुए उनसे अलग होने की बात कही है। नुसरत सदैव अपनी बोल्डनेस, लाइफस्टाइल और विवादों में घिरे रहने के कारण चर्चा का ...
2
3
सोनम कपूर के बारे में यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि वे रणवीर सिंह की बहन हैं। ऐसी 30 रोचक जानकारियां सोनम कपूर के बारे में।
3
4
डिम्पल कपाड़िया के पिता चुन्नीभाई कपाड़िया बेहद अमीर व्यक्ति थे। वे अपने घर 'समुद्र महल' में अक्सर फिल्म सितारों को पार्टियां देते थे। कहा जाता है कि ऐसी ही एक पार्टी में फिल्मकार राज कपूर ने 13 वर्षीय डिम्पल को देखा और डिम्पल उनके जेहन में बस गई।
4
4
5
अनिता राज का कहना है कि अपने करियर में उन्हें ज्यादातर उन नायकों के साथ काम करना पड़ा जो उम्र में उससे कहीं अधिक बड़े थे। हम उम्र नायकों के साथ उन्होंने कम फिल्में की। इसके बावजूद हर हीरो के साथ उनकी जोड़ी खूब जमी। फिल्म करिश्मा कुदरता का की शूटिंग के ...
5
6

नूतन: लंबी और सशक्त पारी

शुक्रवार,जून 4, 2021
नूतन की सबसे बड़ी खूबी यह रही कि उन्हें कैसा भी रोल दे दिया जाए, अपने अभिनय से उसे असाधारण बनाने की क्षमता उनमें थीं। हल्के-फुल्के, चुलबुले अथवा धीर-गंभीर भूमिकाओं में नूतन ने साबित किया है कि बिना ग्लैमर के भी नंबर वन नायिका बना जा सकता है। सीमा, ...
6
7
भारतीय सिनेमा के स्वर्णयुगीन फिल्मकार राजकपूर को गुजरे हुए कई साल हो गए, लेनिक वे कभी अप्रासंगिक नहीं होंगे, क्योंकि उनका व्यक्तित्व और कृतित्व सार्वकालिक महत्व का है। राज कपूर की विरासत का लेखा-जोखा बहुत विस्तृत है। उनकी सबसे बड़ी विशेषता उनके सोच ...
7
8
नरगिस अभिनेत्री के बजाय डॉक्टर बनना चाहती थीं, लेकिन सुनहरे संसार के रूपहले परदे पर जब वह आ गई, तो उसने अभिनय के व्यवसाय को प्रतिष्ठा दिलाई। 1957 में 'मदर इंडिया' के समय जब वह अपने जीवन की सफलता के शीर्ष पर थीं, उसने सफेद साड़ी बदलकर दुल्हन की लाल ...
8
8
9
सन्‌ 1976 में हरनामसिंह रवैल की फिल्म "लैला मजनूँ" से रंजीता ने हिन्दी फिल्मी दुनिया में कदम रखा। फिल्म और टेलीविजन इंस्टीट्यूट से आई रंजीता कौर को अपनी पहली ही फिल्म ऋषि कपूर के साथ मिली जो खुद भी अपनी पहली ही फिल्म बॉबी से स्टार हो गए थे, जिस ...
9
10
24 मई 1955 को जन्मे राजेश रोशन अपने संगीत में मेलोडी के साथ-साथ आधुनिकता का स्पर्श देना जरूरी मानते हैं व इस मामले में बर्मन (सीनियर) को अपना आदर्श मानते हैं। राजेश की सचिन दा के प्रति इस श्रद्धा का शायद देव आनंद को इलहाम हो गया और उन्होंने अपनी ...
10
11
मुम्बई के चर्चगेट इलाके में गेलार्ड नामक एक रेस्तरां में पचास-साठ के दशक में संघर्ष कर रहे फिल्मी कलाकारों का अड्डा हुआ करता था। वहाँ रूप के. शोरी नामक फिल्म डायरेक्टर अक्सर आया-जाया करते थे। उनकी निगाह विनोद मेहरा पर ऐसी जमी कि उन्होंने अपनी फिल्म ...
11
12
नवाजुद्दीन सिद्दीकी की गिनती आज बॉलीवुड के बेहतरीन अभिनेताओं में होती है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने यहां तक पहुंचने के लिए कड़ा संघर्ष किया है। आर्थिक परेशानियों का सामना किया है। काम पाने के लिए खूब चक्कर लगाए हैं। भूखे रहे हैं। यह कड़ा संघर्ष, ...
12
13
योगिता बाली जब अपनी भरी पूरी पंजाबी बाला की देह लेकर फिल्मों में आईं, तो लगा कि उन्होंने किंग साइज के गिलास से लस्सी पी है और पंजाब का असली घी खाया है। रिश्ते में वह गीताबाली की भानजी हैं, लेकिन फिल्मों में वैसा कमाल नहीं दिखा पाईं, जो गीता ने हासिल ...
13
14
अमिताभ बच्चन अभिनीत 'डॉन' उनकी बेहतरीन फिल्मों में गिनी जाती है। इस फिल्म के सभी गाने आज भी सुने जाते हैं। अमिताभ ने इस फिल्म में डबल रोल निभाया था और बॉक्स ऑफिस पर यह फिल्म बेहद कामयाब रही थी। 12 मई को इस फिल्म को रिलीज हुए 43 वर्ष हो गए। इस ...
14
15
सदाशिव अमरापुरकर को ज्यादातर हिंदी फिल्मों में खलनायकी करते देखा गया है। विलेन के रोल को निभाने के लिए उनके पास न हष्ट-पुष्ट शरीर था और न ही दमदार आवाज, बावजूद इसके उन्होंने विश्वसनीयता के साथ खलनायकी के रंग दिखाए। पतली आवाज को संवाद अदायगी के जरिये ...
15
16
ओजस्वी और गंभीर आवाज के धनी पंकज कुमार मलिक एक ऐसे इंसान थे जिन्होंने धन और यश दोनों का डटकर मुकाबला किया। वे नि:संदेह एक उच्च कोटि के गायक थे और संगीत की बारीकियों का उन्हें समुचित ज्ञान था। ऐसे गीत जो स्वयं गा सकते थे वे भी उन्होंने सहगल से गवाए। ...
16
17
बॉलीवुड के लंबे इतिहास पर नजर दौड़ाएंगे तो कई ऐसी फिल्में मिल जाएंगी जिनमें मां को बेहद सशक्त तरीके से पेश किया गया है। यहां तक कि कई बार वो हीरो पर भी भारी पड़ती नजर आती है। यूं तो कई यादगार किरदार और परफॉर्मेंस मिल जाएंगे। यहां चर्चा करते हैं उन ...
17
18
ऐसा ही एक किस्सा फिल्म 'दीवाना' से जुड़ा है। यह फिल्म 1992 में रिलीज हुई थी। निर्देशक थे राजकंवर। गुड्डू धनोआ और ललित कपूर ने इसे प्रोड्यूस किया था। फिल्म में ऋषि कपूर, दिव्या भारती और शाहरुख खान ने लीड भूमिका निभाई थी। यह फिल्म इसलिए भी याद की ...
18
19
सत्यजीत रे आज हमारे बीच होते तो 2 मई 2021 को उम्र के सौ बरस पूरे कर लेते। सिनेमा अगर जीवन की विस्तारित छवि है, तो कभी-कभी फिल्मकार इस विस्तार से भी पार खड़ा नजर आता है। विश्व सिने इतिहासमें ऐसा कम ही हुआ है, जब किसी सिने शिल्पी का कद रजतपट को एक ...
19