बॉबी के लिए इसलिए बहुत खुश हैं सनी देओल

एक नहीं कई बार ये बात बोल चुके हैं कि उनका छोटा भाई ही नहीं वरन उनके लिए बेटे जैसा है। बॉबी की खुशी के लिए सनी ने हर संभव कोशिश की है। जब बॉबी की पहली फिल्म 'बरसात' बन रही थी तो सनी ने एक साल तक कोई काम नहीं किया और पूरा फोकस बॉबी की फिल्म पर किया।

बॉबी का करियर शुरुआत में तो बढ़िया चला, लेकिन कुछ सालों बाद बॉबी की चमक फीकी पड़ने लगी। बॉबी भी लापरवाह हो गए और एक समय ऐसा आया जब बॉबी को काम मिलना ही बंद हो गया। बॉबी घर बैठ गए। कुछ दिन तो कोई फर्क नहीं पड़ा, लेकिन फिर बॉबी परेशान रहने लगे। फिर डिप्रेशन में चले गए।


इसके बाद बॉबी ने शराब में डूबो अपने आपको डूबो लिया। इससे परिवार के सभी सदस्य चिंतित रहने लगे। बॉबी को भी बुरा लगने लगा। उन्हें यह देख अच्छा नहीं लगता था कि उनके बेटे उन्हें देख रहे हैं कि पिता घर पर ही बैठा है। उसके पास कोई काम नहीं है।

एक दिन अचानक बॉबी को न जाने क्या हुआ। महीनों से बढ़ी दाढ़ी फौरन काट ली। अपने दोस्त और फिल्म निर्माताओं के पास वे काम मांगने गए। दोस्त यह देख खुश हो गए। सलमान के कारण रेस 3 मिली। साजिद नाडियाडवाला ने हाउसफुल 4 में काम दिया। इसका मैसेज यह गया कि बॉबी काम के लिए तैयार हैं वरना फिल्म निर्माता मान बैठे थे कि बॉबी अब कैमरे का सामना नहीं करना चाहते हैं।



इसके बाद बॉबी को 'द क्लास ऑफ 83' फिल्म मिली जो ने‍टफ्लिक्स के लिए बनाई गई थी। वेब सीरिज ने तो छप्पर फाड़ सफलता हासिल की और अब 11 नवंबर को इसका दूसरा सीजन शुरू होने वाला है। बॉबी ने ऐसा किरदार कभी नहीं निभाया था और उनके अभिनय की काफी तारीफ हुई। इससे बॉबी का आत्मविश्वास लौटा। वे खुश रहने लगे।

बॉबी को खुश देख सनी देओल की खुशी की दोगुनी हो गई। वे बॉबी को मिले काम और प्रशंसा से प्रसन्न हैं। बॉबी की डिमांड बढ़ गई है। बॉबी भी ज्यादा से ज्यादा काम करना चाहते हैं। फिल्म हो या वेबसीरिज, उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। कहने वाले कह रहे हैं कि बॉबी को निर्माता अच्छी खासी फीस भी ऑफर कर रहे हैं।

यह देख सनी को बड़ा मजा आ रहा है। बॉबी निराशा से बाहर आ चुके हैं और एक नया बॉबी 'देओल' परिवार को देखने को मिल रहा है।



और भी पढ़ें :