करियर का आगाज़ शाहरुख खान के साथ (स्लाइड शो)

Mahima
IFM

Suchitra
IFM

महिमा चौधरी : परदेस (1997)
सुभाष घई ने महिमा चौधरी को ‘परदेस’ में शाहरुख की नायिका बनाया। इस तरह ‘परदेस’ और ‘स्वदेस’ नामक दो फिल्में शाहरुख ने की और दोनों में उनकी नायिका एक नया चेहरा था। महिमा इस मौके का फायदा आगे नहीं उठा पाया और उन्हें गलत फिल्म करने का खामियाजा भुगतना पड़ा।


सुचित्रा कृष्णमूर्ति : कभी हाँ कभी ना (1994)
समय ताम्रकर|

सुचित्रा कृष्णमूर्ति ने ‘कभी हाँ कभी ना’ में शाहरुख के साथ काम किया था। तब शाहरुख बड़े स्टार नहीं बने थे और इस फिल्म में दीपक तिजोरी ने शाहरुख की बराबरी का रोल निभाया था। इस फिल्म को खास सफलता नहीं मिली। सुचित्रा का ध्यान अभिनय की ओर कम था और उन्होंने बाद में शेखर कपूर से विवाह कर लिया जो बाद में टूट गया।




और भी पढ़ें :