हिंदी सिनेमा में बॉक्स ऑफिस पर नए शिखर छूने वाली टॉप फिल्में

आवारा

आवारा (1951)

निर्देशक : राज कपूर

कलाकार : राज कपूर, ‍नरगिस, पृथ्वीराज कपूर, के.एन. सिंह

PR

दो वर्ष बाद राज कपूर ने अपनी ही फिल्म ‘बरसात’ का रिकॉर्ड तोड़ा। आवारा भारत की बेहतरीन फिल्मों में से एक मानी जाती है। इस फिल्म ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय फिल्मों की पहचान बनाई। रूस में आज भी लोग आवारा हूं गाते हुए मिल जाएंगे। आवारा के बाद राज कपूर के प्रशंसक दुनिया भर में हो गए। प्रतिष्ठित मैगजीन ‘टाइम’ ने ऑल टाइम 100 ग्रेटेस्ट फिल्म्स में आवारा को स्थान दिया और भारत की श्रेष्ठ दस फिल्मों में से एक इसे माना। ‘अच्छे लोगों के यहां अच्छे और बुरे लोगों के यहां बुरे लोग पैदा होते हैं’, फिल्म की कहानी इस वाक्य के इर्दगिर्द घूमती है। आवारा के गानों- आवारा हूं, एक बेवफा से प्यार किया, अब रात गुजरने वाली है, जब से बलम घर आए, घर आया मेरा परदेसी, दम भर जो उधर मुंह फेरे, तेरे बिना आग ये चांदनी, हम तुझसे मोहब्बत करके सनम- की गिनती हिंदी फिल्म संगीत इतिहास के श्रेष्ठ गीतों में होती है। राज कपूर और नरगिस की जोड़ी को बेहद सराहा गया। इस फिल्म की खास बात ये कि लेखक ख्वाजा अहमद अब्बास चाहते थे कि जज का रोल अशोक कुमार और उनके बेटे का रोल दिलीप कुमार निभाए। मेहबूब खान इसे निर्देशित करने वाले थे, लेकिन ऐन वक्त पर अब्बास ने मेहबूब स्टुडियो से अपनी स्क्रिप्ट वापस ली और इसे राज कपूर ने बनाया। 1953 के कान फिल्म समारोह में ये दिखाई गई और वहां पुरस्कार के लिए नामित भी हुई। इस फिल्म का नेट ग्रास कलेक्शन एक करोड़ पच्चीस लाख रुपये रहा।

एक वर्ष बाद ही टूटा आवारा का रिकॉर्ड, कौन सी फिल्म है वो, अगले पेज पर...




और भी पढ़ें :