Beauty care tips : फैशन के दौर में नाक के बाल कभी भी नहीं हटाएं, जानिए क्यों?

Beauty care
फैशन के दौर में सुंदर दिखने के लिए जोखिमभरी चीजें भी कर लेते हैं। हालांकि वह अच्छी जरूर लगती है लेकिन सेहत के लिहाज से जानलेवा साबित हो सकती है। लड़कियां सुंदर दिखने के लिए कई बार रिस्क लेने के लिए भी तैयार हो जाती है। बाल हटाने के लिए वैक्सिंग और थ्रेडिंग बनवाई जाती है। लेकिन नाक के बाल हटाने की भी कोशिश की जाती है। ऐसा करना सेहत के साथ खिलवाड़ करने जैसा है। नाक के बाल हटाने से बीमारियों का बुलावा देने के समान है।

आइए जानते हैं नाक के बाल हटाने पर सेहत को कैसे नुकसान हो सकता है-

नाक के बाल सेहत के लिए है जरूरी




जैसे उम्र बढ़ती है तो किसी के नाक के बाल भी बढ़ने लगते हैं और वह नाक से बाहर आने लगते हैं। लेकिन हम इसे उखाड़ने लग जाते हैं। दरअसल, नाक के बाल एक रक्षा प्रणाली का हिस्सा है। जब आप सांस लेते हैं तो ऑक्सीजन मिलती है लेकिन गंदगी शरीर में नहीं जाती है। नाक के बाल होने की वजह से बैक्टीरिया, धूल और गंदगी अंदर जाने से बच जाती है। इससे आप सांस की बीमारी से बच जाते हैं।

2011 में हुई एक स्टडी के मुताबिक जिन लोगों की नाक में बाल कम थे या जिन्होंने उखाड़ लिए थे उन्हें अस्थमा होनी की संभावना अधिक बढ़ गई। स्टडी के अनुसार नाक के बाल आपके फेफड़ों में ऑक्सीजन को फिल्टर करके पहुंचाते हैं।

अगर आप नाक के बाल तोड़ते हैं तो हेयर फॉलिकल खुल जाते हैं। इससे आपके शरीर में गंदगी और धूल आसानी से प्रवेश कर जाते हैं और श्वास संबंधी परेशानी भी होने लगती है।

नाक के बाल बढ़ जाने पर क्या करें?

आप इस संबंध में डॉ से भी परामर्श ले सकते हैं और चाहे तो कैंची से सिर्फ थोड़े-थोड़े बाल ही काटें।



और भी पढ़ें :