वर्ल्ड कप में मोहम्मद शमी के धमाकेदार प्रदर्शन पर क्या बोलीं पत्नी हसीन जहां?

पुनः संशोधित शनिवार, 29 जून 2019 (18:28 IST)
- अभिमन्यु कुमार साहा

इंग्लैंड में चल रहे क्रिकेट विश्व कप 2019 में भारत का अभी तक का प्रदर्शन शानदार रहा है। यूं तो कप्तान विराट कोहली हर जीत के बाद पूरी टीम को इसका श्रेय देते हैं लेकिन पिछले दो मैचों में एक खिलाड़ी ने अपने लाजवाब प्रदर्शन से सभी के दिलों में अपनी ख़ास जगह बनाई है। ये खिलाड़ी हैं मोहम्मद शमी।

अफ़गानिस्तान के साथ अंतिम ओवरों में संघर्ष कर रही टीम इंडिया के लिए मोहम्मद शमी खेवनहार बनकर आए और हैट-ट्रिक लेकर टीम इंडिया की जीत सुनिश्चित की। इसके बाद वेस्टइंडीज के साथ मैच में भी उन्होंने चार विकेट झटके। प्लेयर ऑफ़ द मैच भले विराट कोहली बने लेकिन सोशल मीडिया पर बहुत से लोगों ने कहा कि प्लेयर ऑफ़ द मैच शमी को बनाना चाहिए था।


विश्व कप में भारत अभी तक छह मैच खेल चुका है लेकिन पहले चार मैचों में मोहम्मद शमी टीम में शामिल नहीं थे। भुवनेश्वर कुमार चोटिल हुए और शमी को प्लेइंग इलेवन में जगह मिली। पांचवें और छठे मैच में मिले मौके को उन्होंने दोनों हाथों से भुनाया।

पत्नी हसीन जहां की प्रतिक्रिया
सोशल मीडिया पर मोहम्मद शमी को 'हीरो' बताने की होड़ है। उनकी पत्नी हसीन जहां भी मानती हैं एक खिलाड़ी के तौर पर शमी पर उन्हें 'गर्व है।' हसीन जहां ने बीबीसी से कहा, "शमी के लिए मुझे कोई गर्व नहीं है, लेकिन अगर कोई भारतीय देश का नाम और शोहरत बढ़ा रहा है तो एक भारतीय होने के नाते मुझे गर्व है।"


हसीन जहां और मोहम्मद शमी के रिश्ता विवादों में है। हसीन जहां ने मोहम्मद शमी पर कई आरोप लगाए हैं और ये मामला अभी कोर्ट में है। लेकिन फिलहाल वो मोहम्मद शमी के खेल की तारीफ कर रही हैं। हसीन जहां का भी मानना है कि शमी का प्रदर्शन पिछले मैच में बेहतरीन रहा था और उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का ख़िताब मिलना चाहिए था।
उन्होंने कहा, "शमी टीम का हिस्सा हैं, वो अच्छा खेल रहे हैं, अच्छी बात है। अंतिम मैच में उन्होंने चार विकेट लिए थे तो उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच क्यों नहीं दिया गया?"


हालांकि, हसीन जहां शमी के साथ विवाद को लेकर उनसे खफ़ा भी दिखती हैं। वो कहती हैं, "उनका करियर उनकी जगह पर है, मेरी लड़ाई मेरी जगह पर है। उन्होंने मेरा घर संसार तोड़ा है। वो अपने करियर में क्या कर रहे हैं, इससे मुझे कोई लेना देना नहीं है।"

विवादों का दौर
2018 के पहले तक मोहम्मद शमी के क्रिकेट के जुनून और सफलताओं के बीच चोट ही एक मात्र रुकावट बनती रही। शमी ने इससे उबरना भी शुरू कर दिया था कि एकाएक उनकी निजी ज़िंदगी में एक भूचाल सा आया। मार्च, 2018 में पत्नी हसीन जहां ने उन पर घरेलू हिंसा, हत्या की कोशिश और बलात्कार के आरोप लगाए और कोलकाता पुलिस ने शमी के ख़िलाफ़ एफ़आइआर दर्ज की।


मोहम्मद शमी ने इन सभी आरोपों को ग़लत बताते हुए ट्वीट किया था, "जितनी भी ख़बरें मेरे बारे में चल रहीं हैं, सभी ग़लत हैं और एक साज़िश है जिससे मुझे बदनाम किया जा सके और मेरा गेम ख़राब किया जा सके।"

इस सब के बीच शमी की पत्नी ने एक और गम्भीर आरोप लगाया था, मैच फ़िक्सिंग का। नतीजा ये हुआ कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने टीम के खिलाड़ियों को मिलने वाले कॉंट्रैक्ट में से मोहम्मद शमी को बाहर कर दिया और जांच शुरू हो गई। बीसीसीआई की एंटी करपशन यूनिट ने शमी को मैच फ़िक्सिंग के आरोप में निर्दोष पाया और शमी को दोबारा अनुबंधित किया।


बहुत सारी नाराजगी गिनाते हुए हुए हसीन जहां कहती हैं, "जब तक जिंदा हूं तब तक लड़ाई लड़ूंगी (शमी के ख़िलाफ़) और मेरी कोशिश रहेगी कि उन्हें सुधार कर फिर से अपना घर बसाऊं।"

हसीन कहती हैं कि शमी दुनिया के लिए हीरो हो सकते हैं लेकिन उनके लिए वो "ग़लत" हैं। हालांकि, विवाद सामने आने के पहले शमी और उनकी पत्नी एक खुशहाल परिवार का हिस्सा नज़र आते थे।


शमी और हसीन की एक बेटी भी है। शमी कई बार पत्नी और बेटी के साथ तस्वीर सोशल मीडिया पर भी शेयर करते थे। एक जब हसीन जहां को उनके कपड़ों के चयन के लिए सोशल मीडिया में ट्रोल किया गया तब शमी ने ज़ोरदार तरीके से उनका बचाव किया था।

पत्नी के साथ विवाद में मोहम्मद शमी ख़ुद को लगातार बेगुनाह बताते रहे हैं। मौजूदा वर्ल्ड कप के दो मैचों में मोहम्मद शमी सात की बेहतरीन औसत के साथ आठ विकेट ले चुके हैं। वर्ल्ड कप में हिस्सा ले रहे सभी गेंदबाज़ों में उनका औसत सबसे बेहतर है।
 

और भी पढ़ें :