कोविड से अब तक अगर आप बचे हुए हैं तो क्यों, जानिए 5 वजहें

BBC Hindi| Last Updated: गुरुवार, 18 अगस्त 2022 (07:56 IST)
इस बात की संभावना है कि आपके परिवार में या दोस्तों के बीच कोई न कोई ऐसा व्यक्ति हो जो अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हुआ है। आपको लग सकता है कि उनमें या तो सुपरपावर है या फिर उन्हें ये पता ही न हो कि अच्छी तरह से कोविड टेस्ट कैसे करवाएं। लेकिन संभावना ये है कि या तो वे सौभाग्यशाली हैं या केवल विज्ञान की वजह से ऐसा अब तक नहीं हुआ है। तो हम आपको वो पांच वजहें बता रहे हैं जिसके कारण ऐसे लोगों को अब तक कोविड नहीं हुआ है।
 
1. संयोग
हो सकता है कि अब तक कोविड से बचे लोग लॉकडाउन से पहले उन सुपर स्प्रेडर पार्टियों में शामिल नहीं हुए थे। ये लोग हमेशा ट्रेन के उस डिब्बे में सवार हुए हों जिसमें कोई कोविड यात्री न हो। संभव है ऐसे लोग उस मीटिंग में शामिल थे, लेकिन कोविड से संक्रमित व्यक्ति के आने से पहले ही वहां से बाहर निकल आए हों। ऐसा लगता तो नहीं है, लेकिन ये सच है कि कुछ लोग के दौरान महीने दर महीने इसी तरह सौभाग्यशाली रहे हैं।
 
2. जनसंख्या
वायरस चूंकि एक से दूसरे व्यक्ति को संक्रमित करता है तो जनसंख्या इसके पीछे एक संभावित वजह हो सकती है। वायरस को फैलने के लिए कैरियर की ज़रूरत होती है, लेकिन अगर उस कैरियर या होस्ट के शरीर से वायरस निकल जाए तो वो मर जाता है।
 
कोविड-19 की लहर ने कई लोगों को संक्रमित किया। उसने आप तक पहुंचने से ठीक पहले कई लोगों को बुरी तरह से बीमार किया है लेकिन इलाज के दौरान वो उसी के शरीर में ख़त्म हो गया। ये भी महज संयोग ही है लेकिन इसके पीछे भी विज्ञान है।
 
3. वैक्सीन
वैक्सीन से आपके शरीर में एंटीबॉडी पैदा होती है। जैसे ही वायरस आपके शरीर में घुसने की कोशिश करता है आपका शरीर उस पर हमला करता है। एंटीबॉडी की वजह से आपके शरीर में बीमारी का आगे बढ़ना मुश्किल हो जाता है। हालांकि संक्रमण को रोकने की वैक्सीन की क्षमता समय के साथ ही कम होती जाती है।
 
इसका मतलब ये है कि समूचे महामारी के दौर में एक वैक्सीन आपकी रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम नहीं होगा। साथ ही वैक्सीन से पैदा हुई एंटीबॉडी कोरोना के नए वेरिएंट पर उतनी कारगर नहीं है। यानी नए वेरिएंट आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली से बचने में अधिक सक्षम हैं। लेकिन संभवत: कुछ लोगों में वैक्सीन इस तरह कारगर है कि वो एक बार भी संक्रमित नहीं हुए हैं।
 
4. जन्मजात इम्यूनिटी
कभी कभी आपका शरीर किसी वायरस को बड़ी संख्या में बढ़ने से पहले ही उसे मार सकता है। तो वैक्सीन नहीं लिए व्यक्ति कोविड के संपर्क में आने पर भी हमेशा संक्रमित नहीं होते हैं। ये जन्मजात इम्यूनिटी की वजह से होता है और ये हमारे शरीर में मौजूद पहली पंक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली होती है। हर व्यक्ति में इसकी ताक़त अलग-अलग होती है और हम ये नहीं जानते कि क्यों। विज्ञान के पास इस विषय में बहुत जानकारी नहीं है।
 
5. आपको हो गया हो पर ख़बर नहीं हो
हम पांचवीं और अंतिम वजह ये दे रहे हैं कि संभवत: कोविड आपको हुआ हो, लेकिन आपको इसकी ख़बर ना हो। हो सकता है कोविड हुआ हो, लेकिन आपको इसके कोई लक्षण नहीं हों और आपने कोई टेस्ट न करवाया हो। इसकी सबसे अधिक संभावना है। ऐसे में आपको कभी ये पता चलेगा ही नहीं कि आपको कोविड कभी हुआ भी था।
 
अब चूंकि आपने अपना टेस्ट नहीं करवाया है तो आप ख़ुद एक स्प्रेडर बन जाते हैं। वैसे अब तक अगर आपको वाकई कोविड नहीं हुआ है तो आप बेहद सौभाग्यशाली हैं। हालांकि नए वेरिएंट आपके शरीर के पुराने संक्रमण या वैक्सीन की वजह से पैदा हुई एंटीबॉडी को छकाने में भी संक्षम हो सकते हैं। 
 
ऐसे में वैज्ञानिक यही कहते हैं कि कोविड आख़िरकार हम में से लगभग सभी लोगों को संक्रमित करेगा भले ही उससे बीमारी गंभीर हो या ना हो। महत्वपूर्ण बात ये है कि ये वायरस हममें से ज़्यादातर लोगों को अब बहुत अस्वस्थ नहीं कर रहा है।

और भी पढ़ें :