0

सपनों की राजकुमारी चाहिए तो इन गंधर्व को खुश कर लीजिए, सात अंजुली जल के साथ पढ़ें गंधर्व मंत्र

गुरुवार,अप्रैल 9, 2020
vishwavasu gandharva
0
1
सास और बहू का रिश्ता बड़ा नाजुक होता है। कई बार दोनों पक्ष सही होते हैं पर आमने-सामने आ जाते हैं। वैसे तो इसके कई सामाजिक, पारिवारिक और मनोवैज्ञानिक कारण हैं लेकिन कुछ ज्योतिष के उपाय भी रिश्तों को मधुर बनाने में मददगार सिद्ध हो सकते हैं।
1
2
हमारे शास्त्रों में ऐसे कई संकेतों का जिक्र भी मिलता है जो आगामी शुभ-अशुभ घटनाओं या विपत्त‍ि की ओर इशारा करते हैं। इन पर अगर यही तरीके से ध्यान दिया जाए, तो अनहोनी से भी बचा जा सकता है। आइए जानते हैं इन 5 संकेतों के बारे में -
2
3
धन कमाने के कदम सरल उपाय दिए जा रहे हैं आप अपनी सुविधा से किसी 1 को भी अपना सकते हैं। आप बस नियमित उसका पालन करें।
3
4
प्रचुर धन प्राप्ति के लिए नीचे दिए गए किसी भी एक शनि मंत्र का जाप करें। जाप संध्याकाल के समय करें-
4
4
5
जिन परिवारों में कलह-क्लेश के कारण अशांति का वातावरण हो, वहां घर के लोग इस मंत्र का अधिकाधिक जप करें
5
6
अयि गिरि नन्दिनी नन्दिती मेदिनि इस दिव्य स्तुति को पढ़ने से सौभाग्य चमकता है, सफलता के दरवाजे अपने आप खुलने लगते हैं...
6
7
नौकरी या रोजगार संबंधी समस्या से परेशान हैं तो हर तरह की मेहनत और प्रयत्न के साथ इन्हें भी जरूर आजमाइए....
7
8
पीड़ित जातक को चाहिए कि वह पीड़ित ग्रह के दंड को पहचान कर उक्त ग्रह की अनुकूलता हेतु उक्त ग्रह का रत्न धारण करें और संबंधित ग्रह के मंत्र को जपें तो जातक सुखी बन सकता है। साथ में जातक संबंधित ग्रह के क्षेत्र का दान और उस ग्रह के रत्न की माला से जप ...
8
8
9
मंत्र 3 प्रकार के हैं- सात्विक, तांत्रिक और साबर। सभी मंत्रों का अपना-अलग महत्व है। प्रतिदिन जपने वाले मंत्रों को सात्विक मंत्र माना जाता है। आओ जानते हैं ऐसे कौन से मंत्र हैं जिनमें से किसी एक को प्रतिदिन जपना चाहिए जिससे मन की शक्ति ही नहीं बढ़ती, ...
9
10
गौमती चक्र समृद्धि, खुशी, अच्छा स्वास्थ्य, धन, मन की शांति और बुरे प्रभावों से बचाता है। रोग के इलाज़ में सहायता, अधिक चेतना, बेहतर भक्ति, समाज में प्रतिष्ठा, वित्तीय विकास, एकाग्रता, व्यापार वृद्धि और पूजा की शक्ति देने में बहुत सहायक है।
10
11
यदि घर में दिन-प्रतिदिन कलह बढ़ रहा हो। हर काम में बाधा आ रही हो। तो निश्चय ही जानना चाहिए कि घर अशुद्ध है। इन समस्याओं का निपटारा हो सकता है। प्रस्तुत है घर को पवित्र और शुद्ध रखने का यह पौराणिक उपाय ....
11
12
भगवान् शंकरजी ने मानस की चौपाइयों को मंत्र-शक्ति प्रदान की है- इसलिए भगवान शंकर को साक्षी बनाकर इनका श्रद्धा से जप करना चाहिए।
12
13
'ॐ रामचंद्राय नम:' क्लेश दूर करने के लिए प्रभावी मंत्र है। नवरात्रि में रामनवमी तक रामचरित मानस, वाल्मीकि रामायण, सुंदरकांड आदि के अनुष्ठान की परंपरा रही है। मंत्रों का जाप भी किया जाता है।
13
14
27 मार्च 2020, शुक्रवार को मत्स्य जयंती है। मत्स्य जयंती को भगवान विष्णु के प्रथम अवतार जो मत्स्य अवतार था, उसकी पूजा और प्रार्थना करने के लिए मनाया जाता है।
14
15
नवरात्रि की तृतीया को होती है देवी चंद्रघंटा की उपासना। मां चंद्रघंटा का रूप बहुत ही सौम्य है। मां को सुगंधप्रिय है। उनका वाहन सिंह है।
15
16
मां भगवती को नवरात्र के दूसरे दिन चीनी का भोग लगाना चाहिए मां को शक्कर का भोग प्रिय है। ब्राह्मण को दान में भी चीनी ही देनी चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से मनुष्य दीर्घायु होता है।
16
17
चै‍त्र नवरात्रि में रामचरित मानस के दोहे, चौपाई और सोरठा अथवा उनके मंत्रों से इच्‍छापूर्ति की जा सकती है, जो अपेक्षाकृत सरल है। रामचरितमानस के ये 10 दोहे हैं खास आपके लिए....
17
18
चैत्र नवरात्रि 2020: इस नवरात्रि में नृसिंह भगवान की आराधना का बहुत महत्व है।
18
19
चैत्र नवरात्रि में जानिए आपका राशि मंत्र कौन सा है। इस मंत्र से मां दुर्गा की विशेष कृपा प्राप्त होती है। यश, कीर्ति, पराक्रम, सौभाग्य और आरोग्य का आशीष मिलता है। अपनी राशि का मंत्र चुनें और 9 दिन नियमित जप करें।
19