आज विश्व स्वप्न दिवस : सपनों के बारे में 25 अद्भुत जानकारियां

पुनः संशोधित शनिवार, 25 सितम्बर 2021 (12:25 IST)
25 सितंबर को वर्ल्ड डे अर्थात विश्‍व दिवस ( world day ) मनाया जाता है। सपने हमारी का हिस्सा है। आओ जानते हैं सपनों के बारे में 25 अद्भुत जानकारियां।

1. मनोविज्ञान, आयुर्वेद, ज्योतिष और योग में अच्‍छे या बुरे सपने दिखाई देने के कई कारण बताए गए हैं। जब हम कोई स्वप्न देखते हैं तो जरूरी नहीं कि प्रत्येक सपने का अच्छा या बुरा फल होता है। उसका कुछ भी फल नहीं होता या कुछ भी मतलब नहीं होता है।

2. अधिकतर सपने हमें हमारी दिनचर्या में किए गए कार्य से प्राप्त होते हैं। कार्य का अर्थ हमने जो देखा, सुनना, समझा, इच्छा किया और भोगा वह हमारे चित्त में विराजित होकर रात में स्वप्नों के रूप में दिखाई देता है।

3. यह सब बदले स्वरूप में इसलिए भी होते हैं क्योंकि वे हमारे शरीर में स्थित भोजन और पानी की स्थिति और अवस्था से भी संचालित होते हैं।

4. दृष्ट- जो जाग्रत अवस्था में देखा गया हो उसे स्वप्न में देखना।
5. श्रुत- सोने से पूर्व सुनी गई बातों को स्वप्न में देखना।
6. अनुभूत- जो जागते हुए अनुभव किया हो उसे देखना।
7. प्रार्थित- जाग्रत अवस्था में की गई प्रार्थना की इच्छा को स्वप्न में देखना।
8. दोषजन्य- वात, पित्त आदि दूषित होने से स्वप्न देखना।
9. भाविक- जो भविष्य में घटित होना है, उसे देखना।

10. कई लोगों को रात में ढंग से नींद नहीं आती और आती भी है तो बुरे बुरे सपनों के कारण नींद खुल जाती है। अक्सर सांप के सपने, भूत प्रेत के सपने आते हैं या कुछ ऐसे सपने आते हैं जिसके चलते डर लगा रहता है।

11. कहते हैं कि सोने वाले बिस्तर के नीचे काले कपड़े में फिटकरी बांधकर रखें। इससे बुरे स्वप्न आना, नींद में चमकना या किसी अनजान भय से व्यक्ति मुक्त हो जाता है। किसी भी मंगलवार या रविवार के दिन फिटकरी का एक टुकड़ा बच्चे के सिरहाने रख दें। रात में बच्चे को सोते समय बुरे स्वप्न नहीं आएंगे और न ही बच्चा चमकेगा या चिखेंगा।

13. प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करते रहें। धीरे-धीरे आपको बुरे स्वप्न आना दूर हो जाएंगे। सोने से पूर्व प्रतिदिन कर्पूर जलाकर सोएंगे तो आपको बेहद अच्‍छी नींद आएगी और साथ ही हर तरह का तनाव खत्म हो जाएगा। कर्पूर के और भी कई लाभ होते हैं।

14. 12 बजे से पूर्व देखा गया स्वप्न मन की विकृति होने के कारण अर्थहीन होता है, अत: भूल जाएं कि इसका कोई फल मिलेगा। 12 से 1 बजे तक- ऐसे सपनों का फल 3 वर्ष के अंतर्गत होता है। 1 से 2 बजे तक- इनका फल 1 वर्ष के बीच प्राप्त होता है। 3 से 4 बजे तक- इन सपनों का फल 6 महीने में मिलता है। 4 से 5 बजे तक-
इस दौरान देखे स्वप्न 3 महीनों में फलदायक हैं। 5 से 6 बजे प्रात:- ऐसे सपनों के फलीभूत होने का समय 1 महीना है। प्रात: आंख खुलने से तुरंत पूर्व के स्वप्नों को दृष्टांत कहा जाता है। ऐसे सपने भाग्यशाली व्यक्तियों को आते हैं जिनका मन स्वस्थ एवं स्थिर होता है। प्रात: कालीन स्वप्न सीधे रूप में भविष्यवाणी या भावी दर्शन का रूप होते हैं।

15. देवी के दर्शन करना- किसी रोग से मुक्ति। देवी सीता- पहले कष्ट मिले फिर समृद्धि हो। देवी राधा को देखना- शारीरिक सुख मिले। देवी लक्ष्मी को देखना- धन-धन्य की प्राप्ति हो।

16. दरवाजा खुला देखना - किसी बड़े से मित्रता हो। दरवाजा बंद होना- परेशानियां
मिलना। खेती देखना - संतान-प्राप्ति हो। भूकंप देखना - संतान को कष्ट एवं दुख हो। सीढ़ी देखना - बुरा संग हो। खाई देखना - धन एवं प्रसिद्धि मिले। कैंची देखना - घर में कलह हो। धुआं देखना - हानि एवं विवाद हो।
17. आसामान में उड़ना या दौड़ते घोड़े देखना तरक्की होगी। घोड़े पर सवार होना - सरदारी या ओहदा मिले। रोटी खाना - पदोन्नति एवं धन बढ़े। प्रकाश देखना - उच्च कोटि का साधु हो। रुई देखना - स्वस्थ हो जाए। कलम देखना - महान व्यक्ति से मुलाकात हो। टोपी देखना - दुख दूर हो, उन्नति हो। स्वप्न में स्वयं को पाताल में देखना भयंकर मुसीबतों और कठिनाइयों का सूचक है।

18. बैल या गाय देखना - लाभ हो। घास का मैदान देखना - खूब धन एकत्र करें। बाजार देखना - दरिद्रता दूर हो। लोहा देखना- किसी धनवान से लाभ हो। लोमड़ी देखना- किसी संबंधी से धोखा मिले। बड़ी दीवार देखना- सम्मान मिले। मुर्दे का पुकारना- विपत्ति एवं दुख प्राप्त हो। मुर्दे से बात करना - मुराद, मनचाही इच्छा पूरी हो। मुर्दा देखना- बीमारी दूर होना। जलता मुर्दा देखना – शुभ समाचार मिलना।

19. स्वप्न में यह देखना कि आप किसी पर गुस्सा कर रहे हैं, इस बात का सूचक है कि वह आपका प्रिय मित्र है। यदि कोई और व्यक्ति स्वप्न में आप पर गुस्सा करता है, तो इसका मतलब है, वह आपसे सच्चा प्रेम करता है।

20. स्वप्न में सेब दिखाई देना दीर्घ आयु और व्यापार में सफलता का सूचक है। यदि कोई स्त्री स्वप्न में सेब देखती है, तो उसका अर्थ है कि उसके पुत्र उत्पन्न होगा और वह खूब फूले-फलेगा।

21. स्वप्न में शांत, शीतल और स्वच्छ पानी में अपने आपको नहाते हुए देखने का अर्थ है कि आप सफलता और संपन्नता पाएंगे। यदि पानी-मिट्टी वाला या गंदा है, तो दुर्भाग्य का सूचक है। स्वप्न में दुर्घटना देखने का अर्थ है कि आप निजी कठिनाइयों से घिर जाएंगे।

22. स्वप्न में घंटियां बजते हुए सुनना किसी शुभ समाचार का पूर्व संकेत है। स्वप्न में किसी परिचित को देखना अनंत मैत्री और परस्पर प्रेम का सूचक है।

23. स्वप्न में व्यभिचार दिखना आने वाली मुसीबतों का लक्षण है। स्वप्न में बिल्ली देखना कपट और विश्वासघात का सूचक है।

24. यदि कोई व्यक्ति अपने-आपको स्वप्न में बढि़या भोजन करते हुए देखता है, तो यह इस बात का सूचक है कि उसका स्वास्थ्य ठीक रहेगा और भाग्योन्नति होगी।

25. स्वप्न में अपने को प्रतिकूल परिस्थितियों से घिरा हुआ, जो व्यक्ति देखेगा, वह उसके लिए लाभदायक स्वप्न सिद्ध होगा। 'जिन्हें स्वप्न में प्रतिकूल परिस्थितियां दिखाई दी हैं, वे प्रसन्न और संतुष्ट हो सकते हैं। शादीशुदा पुरुष अथवा स्त्री के लिए यह स्वप्न सुखद जीवन का सूचक है। उनको मित्रों और बच्चों का सुख प्राप्त होगा। दूसरों के लिए यह स्वप्न व्यापार और प्रेम में सफलता प्राप्ति का सूचक है। किसान यह स्वप्न देखे, तो खेत से प्रचुर मात्रा में उपज की उम्मीद कर सकता है। साहसी नाविक को अपनी अगली यात्रा में अनुकूल हवा मिलेगी। प्रत्येक व्यक्ति ऐसा स्वप्न देखकर प्रसन्न होगा।'



और भी पढ़ें :