Venus Transit in Taurus :4 मई 2021 को शुक्र ग्रह का राशि परिवर्तन,12 राशियों पर असर


वृष राशि में पाप ग्रह राहु और बुध के साथ बनाएंगे युति
वृष राशि में 4 मई 2021 मंगलवार को लव, रोमांस और मनोरंजन के कारक शुक्र ग्रह प्रवेश करने जा रहे हैं। जहां पर पहले से ही पाप ग्रह राहु विराजमान हैं।

मई 2021 वृष राशि वालों के लिए बहुत ही विशेष होने जा रहा है। वृष राशि में होने वाली हलचल मेष से लेकर मीन राशि तक दिखाई देगी।
वृष राशि में होने वाले राशि का सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ेगा।
वृष राशि में पाप ग्रह राहु का गोचर
वृष राशि में पाप ग्रह राहु पहले से ही विराजमान हैं। 1 मई 2021 को बुध का राशि परिवर्तन हो गया है। वृष राशि में राहु के साथ बुध ग्रह के आने से जड़त्व नाम का योग बन रहा है। जो कुछ मामलों में अशुभ माना जाता है। 4 मई 2021 को शुक्र ग्रह के आने से तीन ग्रहों की युति का निर्माण हो रहा है। यानी वृष राशि में एक साथ राहु, बुध और शुक्र ग्रह की युति होने जा रही है। इसलिए सेहत सम्बंधी मामलों में लोगों को सावधान रहना होगा।
वृष राशि के स्वामी हैं शुक्र
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्र ग्रह को वृष राशि का स्वामी माना गया है। यानी 4 मई 2021 को शुक्र अपनी ही राशि में राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं। ज्योतिष शास्त्र में शुक्र को धन, ऐश्वर्य, कला, मनोरंजन, भोगविलास, गैजेट्स, लव, रोमांस और सुखद दांपत्य जीवन, फैशन आदि का कारक माना गया है।

वृष राशि में शुक्र का राशि परिवर्तन, जहां पर पहले से ही राहु और बुध विराजमान रहेंगे। शुक्र ग्रह की बुध, राहु और शनि देव की मित्रता बताई गई है। लेकिन किसी की कुंडली में राहु और शुक्र की स्थिति यदि सातवें भाव में बन रही है तो इस स्थिति में दांपत्य जीवन में परेशानी आ सकती है। बुध की राहु से मित्रता है। लेकिन जब ये दोनों साथ आते हैं तो व्यक्ति को मानसिक परेशानी भी देते हैं। जिस कारण लव रिलेशनशिप पर इसका कभी कभी नकारात्मक प्रभाव भी देखने को मिलता है।
12 राशियों पर असर

मेषःधन लाभ


वृषः कार्यक्षेत्र में कुछ समस्याएं

मिथुनः हर कार्य में सफलता

कर्क :
भाग्य साथ देगा


सिंह :प्रेम संबंधों में सफलता


कन्याः
धन हानि के योग


तुलाः
शिक्षा के लिए उत्तम

वृश्चिक :धन से जुड़ी तंगी दूर होगी

धनुः मान-सम्मान प्राप्त होगा

मकरः आमदनी बढ़ेगी

कुंभ: मान-सम्मान मिलेगा

मीन:यात्राओं पर जाना पड़ेगा

शुक्र के उपाय
- श्रीयंत्र का विधि पूर्वक पूजन करें।
- श्रीसूक्त,लक्ष्मी स्त्रोत का पाठ करना चाहिए।
- शुक्रवार को मछलियों को दाना खिलाएं।
- सफेद वस्तुओं का शुक्रवार के दिन दान करें।
- महिलाओं का सम्मान करें।
- सफेद गाय की सेवा करें।



और भी पढ़ें :