24 जनवरी को शनि मकर राशि के घर, 12 राशियों पर होगा बड़ा असर

का नवग्रहों में महत्वपूर्ण स्थान है। ज्योतिष शास्त्र के फलित में शनि की महती भूमिका होती है। शनि को शास्त्रानुसार सूर्यपुत्र एवं दंडाधिकारी माना गया है। शनि न्यायाधिपति भी हैं जो जीव को अपने कर्मानुसार कर्मफल या कर्मदंड देने जीवन में शनि दशा के रूप में आते हैं।

इन दशाओं को शनि की साढ़ेसाती व ढैय्या के नाम से जाना जाता है। शनि मंद गति से चलने वाले ग्रह है उनकी इस धीमी गति के कारण उनका एक नाम शनैश्चर भी है। शनि एक राशि में सर्वाधिक ढाई वर्षों तक रहते हैं। शनि का नाम सुनते ही जनमानस के मन-मस्तिष्क में एक भय व्याप्त होने लगता है।

जब भी शनि का राशि परिवर्तन होता है, लोग यह जानने को उत्सुक होते हैं कि उनके लिए यह राशि परिवर्तन क्या फल देने वाला है। इस माह दिनांक 24 जनवरी 2020 को शनि अपनी राशि परिवर्तन करते हुए मकर राशि में प्रवेश करेंगे। शनि के इस राशि परिवर्तन का समस्त 12 राशियों पर शुभाशुभ प्रभाव होगा।

आइए जानते हैं कि शनि का मकर राशि में संचरण द्वादश राशियों के लिए कैसा रहेगा :-

1. मेष- मेष राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार कार्यक्षेत्र में बाधाएं आएंगी। व्यापार में नुकसान होगा। कार्यों में असफ़लता प्राप्त होगी। स्वजनों से विरोध होगा। जीवन साथी से मतभेद के कारण कलह होगी। ह्रदय रोग के कारण कष्ट होगा। मानसिक अवसाद रहेगा। भूमि-भवन से हानि होगी। वाहन से हानि होगी। माता को कष्ट होगा।
2. वृषभ- वृषभ राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार रोग व दु:ख में वृद्धि होगी। धार्मिक कार्यों से उच्चाटन होगा। बंधु-बांधवों से विवाद होगा। आय व लाभ में कमी होगी। राजदंड, बंधन व लांछन के कारण सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल होगी।

3. मिथुन- मिथुन राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार धन हानि होगी। संपत्ति से नुकसान होगा। कार्यों में असफ़लता प्राप्त होगी। मान-प्रतिष्ठा की हानि होगी। राजदंड का भय होगा। जीवन साथी का स्वास्थ्य खराब रहेगा। पुत्र सुख में कमी आएगी। लॉटरी इत्यादि से हानि होगी। गुप्त शत्रुओं के कारण कष्ट होगा।
4. कर्क- कर्क राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार जीवन साथी के स्वास्थ्य को लेकर मानसिक चिंता रहेगी। दाम्पत्य सुख में कमी आएगी। धन हानि होगी। गुप्त रोग के कारण कष्ट रहेगा। यात्रा में परेशानी व दुर्घटना होने की संभावना है। घर से दूर प्रवास करना पड़ेगा। व्यापार व आजीविका में विघ्न आएंगे।

5. सिंह- सिंह राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार धन लाभ होगा। शत्रु पराभव होगा। भूमि-भवन से लाभ होगा। वाहन सुख प्राप्त होगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। जीवन साथी का सहयोग प्राप्त होगा।

6. कन्या- कन्या राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार गलत निर्णयों के कारण हानि होगी। धन हानि होगी। योजनाएं असफ़ल होंगी। पुत्र सुख में कमी आएगी। स्त्री जाति से कष्ट होगा। व्यापार में हानि होगी।

7. तुला- तुला राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार रोग व शत्रुओं में वृद्धि होगी। स्थान परिवर्तन के योग बनेंगे। राज्य की ओर से कष्ट होगा। भय व अपमान के कारण मानसिक कष्ट होगा।

8. वृश्चिक- राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार साहस-पराक्रम में वृद्धि होगी। प्रत्येक कार्य में सफ़लता प्राप्त होगी। वाहन सुख प्राप्त होगा। अचल संपत्ति की प्राप्ति होगी। भूमि से लाभ होगा।

9. धनु- धनु राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार पारिवारिक कलह का वातावरण रहेगा। धन हानि होगी। स्वजनों से विवाद होगा। कार्यों में असफ़लता प्राप्त होगी। शारीरिक कष्ट होगा। जीवन साथी से मतभेद के कारण मन खिन्न रहेगा। घर से दूर निवास करना पड़ेगा।

10. मकर- मकर राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार मानसिक चिंता रहेगी। गलत निर्णय के कारण हानि होगी। चोट लगने की संभावना है। आर्थिक हानि होगी। कार्यों में असफ़लता प्राप्त होगी।

11. कुंभ- कुंभ राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार पारिवारिक सुख में कमी आएगी। व्यर्थ व्यय के कारण धन हानि होगी। स्वास्थ्य खराब रहेगा। कष्टप्रद यात्राएं होंगी। भाग्य का साथ प्राप्त नहीं होगा। संतान को कष्ट होगा।

12. मीन- मीन राशि वाले जातकों को शनि के गोचर अनुसार भूमि, भवन, लोहे संबंधी कार्यों से लाभ होगा। आय में वृद्धि होगी। स्त्री जाति से लाभ होगा। पदोन्नति के अवसर प्राप्त होंगे। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा।

इन राशि वाले जातकों पर रहेगी साढ़ेसाती व ढैय्या

शनि के मकर राशि में प्रवेश के साथ ही निम्न राशि वाले जातकों पर शनि की साढ़ेसाती व ढैय्या का प्रभाव रहेगा।
1. साढ़ेसाती (दीर्घ कल्याणी)- धनु (अंतिम चरण), मकर (द्वितीय चरण), कुंभ (प्रथम चरण)



और भी पढ़ें :