तेल ने बढ़ाई बेचैनी, सेंसेक्स 478 अंक लुढ़का

मुंबई| भाषा|
हमें फॉलो करें
FILE
शेयर बाजार में पिछले तीन दिन से चल रही गिरावट का सिलसिला सोमवार को तेज हो गया और का प्रमुख सूचकांक 478 अंक की भारी गिरावट के साथ बंद हुआ।


अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और अंतरराष्ट्रीय शेयर बाजारों में नरमी से स्थानीय बाजार में बिकवाली का दबाव बढ़ गया था।

तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 477.82 अंक टूटकर 17445.75 अंक पर बंद हुआ। चार कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 977.82 अंक टूट चुका है। आज कारोबार के दौरान एक समय सेंसेक्स दिन के निचले स्तर 17381.64 अंक पर आ गया था। इसी तरह, नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 148.10 अंक की गिरावट के साथ 5281.20 अंक पर बंद हुआ।

एशियाई बाजारों में नरमी के रुख और यूरोपीय शेयर बाजारों के कमजोर खुलने से स्थानीय बाजार की धारणा कमजोर हुई। वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल का दाम 10 महीने के शीर्ष 125 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचने से लागत प्रेरित मुद्रास्फीति बढ़ने की आशंका पैदा हो गई है।


बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कच्चे तेल की ऊंची कीमतों से मुद्रास्फीति बढ़ेगी, जिसके मद्देनजर रिजर्व बैंक द्वारा मौद्रिक नीति में नरमी का रुख अपनाने की उम्मीद घटने से रियल्टी और बैंकिंग शेयर मुनाफा वसूली के शिकार हुए।
मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष (इक्विटी) रिकेश पारिख ने कहा कि आज दलाल पथ में अफरा-तफरी का माहौल रहा और चौतरफा बिकवाली देखी गई। कच्चा तेल 10 माह के शीर्ष स्तर 125 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंचने से निवेशकों में बेचैनी बढ़ गई। (भाषा)



और भी पढ़ें :